सोमवार, नवम्बर 29

भारत में मौसम विभाग द्वारा अल’र्ट , इन राज्यों में चे’तावनी जा’री 21 अप्रैल के बीच बढेंगी मुस्किले

जम्मू-कश्मीर पर एक पश्चिमी विक्षोभ बनने की वजह से उत्‍तर भारत के अधिकांश हिस्‍सों में मौसम का मिजाज बिगड़ने वाला है। मौसम विभाग की मानें तो अगले 24 घंटों के दौरान जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में आंधी पानी के साथ बारिश की आशंका है। यही नहीं कुछ स्थानों पर गरज चमक के साथ भारी बौछारें या ओले गिरने की भी संभावना है। ऐसे में जब खेतों गेहूं की फसल पक कर तैयार है मौसम का बिगड़ा मिजाज किसानों की समस्‍याओं को और भी बढ़ा सकता है।

हिमाचल प्रदेश में यलो अल’र्ट जा’री

समाचार एजेंसी पीटीआइ ने मौसम विभाग के ह’वाले से बताया है कि हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के कई इलाकों में 17 अप्रैल को आंधी पानी के साथ बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने 17 अप्रैल को हिमाचल प्रदेश के लिए यलो अल’र्ट (yellow alert) जा’री किया है। मौसम विभाग ने चे’तावनी जा’री करते हुए कहा है कि बेहद खराब मौसम के कारण लोगों की जा’न को खतरा हो सकता है। मौसम विभाग के शिमला केंद्र की मानें तो आगामी 16 अप्रैल से 21 अप्रैल तक बारिश हो सकती है। विभाग ने 17 अप्रैल के लिए यलो अल’र्ट जा’री किया है।

 

 

जम्मू कश्मीर और उत्तराखंड में बारिश संभव

मौसम का पूर्वानुमान बताने वाली निजी एजेंसी स्‍काइमेट वेदर के मुताबिक, अगले 24 घंटों के दौरान जम्मू कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में बारिश के आसार हैं। इन राज्‍यों में कई जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश होगी जबकि कुछ स्थानों पर भारी बौछारें या ओले पड़ने की आशंका है। ऐसे में जब खेतों में गेहूं की फसल पक कर तैयार है आंधी पानी के चलते किसानों की मुश्किलें बढ़ सकती है। यही नहीं उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, असम के कुछ हिस्सों और मेघालय में भी बारिश के आसार हैं।

 

पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और यूपी में आंधी

स्‍काईमेट वेदर की मानें तो पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में बारिश या धूल भरी आंधी चलने की संभावना है। यही नहीं केरल, कर्नाटक और छत्तीसगढ़ में भी कहीं-कहीं पर गरज चमक के साथ बारिश हो सकती है। दूसरी ओर गुजरात में लू चलने की स्थितियां बन रही हैं। समाचार एजेंसी पीटीआइ की मानें तो पश्चिम महाराष्‍ट्र और मराठवाड़ा में गरज चमक के साथ आंधी पानी के आसार हैं। मौसम विभाग की ओर से जारी अलर्ट के मुताबिक, कोल्‍हापुर, सतारा, सांगली, सोलापुर, परभणी, बीड़, हिंगोली, नांदेड़, लातूर और ओस्‍मानाबाद में आंधी पानी की संभावना है।

 

 

दिल्‍ली में 40 के पार पारा

मौसमी उतार-चढ़ाव के बीच बुधवार को भी दिल्लीवासियों को भीषण गर्मी का सामना करना पड़ा। तेज धूप दिन चढ़ने के साथ-साथ और तीखी होती गई। मौसम विभाग के मुताबिक न्यूनतम तापमान 24.0 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया जो सामान्य से तीन डिग्री ज्यादा है। अधिकतम तापमान 40.1 डिग्री सेल्सियस रहा, यह भी सामान्य से तीन डिग्री ज्यादा है। मौसम विभाग की मानें तो पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से शुक्रवार को मौसम कुछ करवट ले सकता है। कहीं-कहीं हल्की बारिश होने की संभावना है। पिछले सालों की ओर देखें तो 15 अप्रैल की तिथि में इतना अधिक तापमान 2011 के बाद से कभी नहीं रहा।

 

19 की रात और 20 को दिन में बारिश

प्रादेशिक मौसम पूर्वानुमान केंद्र, दिल्ली के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने बताया कि 18 और 19 को फिर से तेज गर्मी पड़ेगी, लेकिन 19 की शाम से पश्चिमी विक्षोभ का असर दोबारा देखने को मिलेगा। इसके चलते 19 की रात और 20 को दिन में बारिश होने की संभावना रहेगी। 21 अप्रैल से मौसम पुन: गर्म होने लगेगा और तापमान भी बढ़ने लगेगा। दिल्ली के कई हिस्सों में अधिकतम तापमान 41 डिग्री सेल्सियस के आसपास भी रहा। मौसम विभाग के अनुसार पालम में अधिकतम तापमान 40.8, जबकि आयानगर में 40.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।