#

भागलपुर में छोटे और बड़े जहाज का बहुत जल्द ठहराव होने वाला है। माल ढुलाई में इन जहाज के ठहराव से सहायता मिलेगी। और इस जहाज के द्वारा लोग गंगा के एक इलाके से दूसरे इलाके में आ जा सकेंगे जी हां, गंगा के मार्ग से आने जाने के लिए नए मार्ग बनाने की कवायद प्रारंभ हो गई है। आवागमन के लिए भागलपुर में कम्युनिटी जेटी जल्दी बनेगा।

 

 

भागलपुर से गंगा के दूसरे किनारे की अब सैर

 

इस मार्ग के बन जाने के बाद लोग गंगा मार्ग से एक इलाके से दूसरे इलाके आ जा सकेंगे, जिसमें भागलपुर से नवगछिया कहलगांव से लेकर सुल्तानगंज तथा गंगा के दूसरे पार भी आना जाना लगा रहेगा। इसी मार्ग से दूसरे जिले में भी आ जा सकेंगे। इसके लिए पत्तन पोत परिवहन तथा जलमार्ग मंत्रालय ने कम्युनिटी जेटी के लिए जमीन चिन्हित करने के पश्चात प्रस्ताव को अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण से मांग की है।

 

 

कम्युनिटी जेटी के बनने से होगा लाभ।

इस मार्ग के बन जाने के पश्चात 200 टन क्षमता वाले जहाज चलेंगे। इस पर 200 लोगों को भी सवार किया जा सकेंगा । इसके साथ ही ट्रक चार पहिया वाहन के साथ-साथ बाइक को भी लोड कीया जा सकेगी। कम्युनिटी जेटी बनने के पश्चात मालवाहक जहाज की फेरी सेवा प्रारंभ कर सकेंगे। इसके बनने से गंगा मार्ग पर आवागमन में परेशानी नहीं होगी। इसके लिए नदी में गाद हटाने की भी कवायद चल रही है।  दूसरी तरफ अंतरदेशीय जल मार्ग प्राधिकरण के डिप्टी डायरेक्टर ने बताया यह कार्य अभी चलता रहेगा। जब गंगा मार्ग में आने जाने और मालवाहक जहाज चलाने के लिए कई इलाकों को लिस्ट में रखा गया जिसमें से भागलपुर भी एक है।

 

 

गंगा मार्ग के बन जाने से सड़क पर जाम से निजात मिलेगी क्योंकि अभी तक लोग वाहनों द्वारा सड़क पर ही आवागमन करते हैं जिससे सड़कें टूट जाती हैं और जाम भी लग जाता है। लेकिन जब गंगा के रास्ते से आवागमन शुरू हो जाएगा तो जाम से निजात मिलना लाजमी है।क्योंकि मानना है जाम से निजात पाने के लिए नदी के रास्ते का ऑप्शन सड़क पर वाहनों का दबाव जरूर कम करेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *