कोरोंना वायरस की वजह से पूरे देशवासियों और सरकार को भारी राजस्व का नुकसान हुआ है। जिसकी छाती पूर्ति के लिए बिहार में इस राजस्व के हुए नुकसान को भरपाई और पुलिस का बोझ कम करने के लिए सरकार एक नया कदम उठा रही है। अब तक मिली जानकारी के अनुसार बिहार के सभी थानों में जितनी भी गाड़ियां मौजूद हैं, जो किसी न किसी मामले में जप्त की गई हैं उनकी नीलामी की जाएगी।

 

 

इस नीलामी में आम लोगों को भी बोली लगाने का मौका मिल सकता है, इस नीलामी में वैसे वाहनो को शामिल किया जाएगा जो शराब के मामले में जप्त की गई है। ऐसे वाहनों को खरीदने का मौका आम लोगों को जल्द ही मिल मिलेगा। ऐसी सभी गाड़ी जो शराब के मामले में जबकि गई हैं उनकी सूची तैयार करने के लिए आदेश दिए गए हैं।

 

 

उसके साथ साथ नगर पुलिस अधीक्षक को सोजत वाहनों के केस का अध्ययन करके रिलीज करवाने का निर्देश दिया गया है। थाने में जप्त गाड़ियों से एक तरफ गाड़ियां जर्जर हो रही हैं तो दूसरी तरफ थानों की सूरत भी चौपट हो गई है। इस पर पहल करते हुए सरकार ने यह निर्देश दिया है कि ऐसे जवानों को रिलीज किया जाना आवश्यक है जिसका उपयोग किया जा सके ताकि गाड़ियां कचरा ना बन सके।

 

 

बिहार सड़क सुरक्षा परिषद के पदाधिकारियों द्वारा यह पता लगाने का काम किया जाएगा की जिन वाहन मालिकों का वाहन थाने में जप्त है वह अपनी गाड़ी को छुड़ाकर क्यों नहीं ले जा रहे हैं। इस जांच में एमभीआइ की भी रोस्टर ड्यूटी लगाई जाएगी। ऐसे वाहन मालिक जिनकी गाड़ियां चोरी हो गई है और किसी थाने में उसे बरामद कर के रखा हुआ है। उस वाहन मालिक को सूचना देकर उनका वाहन उनको सुपुर्द किया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *