#

बिहार के लिए एक बड़ी खुशखबरी सामने आई है। भारतीय रेलवे की तरफ़ से यात्रियों को बड़ी सौगात मिलने जा रही हैं।  भारतीय रेलवे ने पटना से दिल्ली के लिए  जल्द ही बंदे मातरम एक्सप्रेस  चलाने निर्णय लिया है ।  इस एक्सप्रेस से  यात्री महज 4 से 5 घंटे में पटना से राजधानी दिल्ली पहुंच सकते हैं  ।  इस वर्ष के अंत तक देश में 27 रूटों पर 18 वंदे मातरम एक्सप्रेस चलाने के प्रयास जारी किये गए हैं। पहले चरण में चुने गए मार्गों में पटना, वाराणसी, दिल्ली शामिल हैं।   फिलहाल  पटना से दिल्ली चलने वाली राजधानी एक्सप्रेस  को पटना से दिल्ली पहुंचाने में पूरे 12 घंटे का समय लग जाता हैं ।

 

रेलवे अधिकारियों का कहना है कि दिल्ली-पटना रेलवे लाइन पर यात्रियों कि भारी लोड है । आजकल इस रूट पर संपूर्ण क्रांति, राजधानी और तेजस जैसी ट्रेनें चलती हैं। बेहतर सुविधाएं चाहने वाले यात्रियों के लिए यह ट्रेन एक बेहतरीन विकल्प  बनकर सामने आयी है।  जहां यह ट्रेन यात्रियों को अच्छी सुविधाएं प्राप्त  करा रही है वहीं दूसरी ओर यात्रियों का समय भी बचाती है ।  अधिकारियों ने  किराए को लेकर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया है ।

 

आपको बता दें कि वंदे भारत ट्रेन इस समय देश के कुछ चुनिंदा रूटों पर ही चलाई जा रही है।  पहली वंदे भारत ट्रेन दिल्ली से वाराणसी के लिए चलाई गई । प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 फरवरी 2019 को वंदे भारत एक्सप्रेस का उद्घाटन  किये थे। ट्रेन को 17 फरवरी 2019 को व्यावसायिक रूप से लॉन्च किया गया था।  अब यह ट्रेन दिल्ली से जम्मू के बीच चलाई जा रही है ।  इसका ट्रायल अंबाला रेल रूट पर चल रहा है । इस ट्रेन  को भारतीय रेलवे ने मुंबई से अहमदाबाद के बीच चलाने का फैसला किया है।

 

रेलवे सूत्रों के मुताबिक  भारतीय बंदे मातरम एक्सप्रेस ट्रेन स्पीड के मामले में बुलेट ट्रेन से भी ज्यादा तेज है। वंदे मातरम एक्सप्रेस ट्रेन को 0 से 100 किमी की रफ्तार  पकड़ने में महज कुछ सेकेंड का समय लगता है।  यह ट्रेन काफी अपग्रेडेड है ।  इसकी विशेषताओं के कारण, ट्रेन की गति अन्य की तुलना में  काफी तेज है। वर्तमान में वंदे भारत ट्रेन की गति 160 किमी प्रति घंटा है। चरणबद्ध ढंग से वर्ष 2025 तक अपडेटेड एडिशन 260 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से चलेगी।

 

वंदे भारत पूरी तरह से वातानुकुलित ट्रेन है , अब इसका ऐसी और भी बेहतर होगा । अपग्रेडेड वर्जन में वंदे भारत के कोच को बैक्टिरिया फ्री एयर कंडीशनिंग सिस्टम से लैस किया जाएगा । यात्रियों के बैठने की सुविधा पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। प्रत्येक बोगी में चार आपातकालीन खिड़कियां होंगी, ताकि किसी भी आपात स्थिति में यात्रियों को जल्दी से निकाला जा सके।बिजली गुल होने की स्थिति में ट्रेन में रोशनी और वेंटिलेशन की वैकल्पिक व्यवस्था की गई है। करीब 3 घंटे तक वेंटिलेशन मौजूद रहेगा। सभी कोचों में बड़ी-बड़ी लाइटें लगाई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *