बिहार,( कुलसूम फात्मा ) सोमवार से राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा प्रारंभ हो रही है। राजधानी के साथ पूरे बिहार में वाहनों की चेकिंग तेजी से होगी। इसलिए गाड़ियों के साथ गाड़ी के डाक्यूमेंट्स को भी साथ में रखें। वरना न रखने पर आपको भारी कीमत चुकानी पड़ सकती है। गाड़ी के कागजात को रखने के साथ नियमों का पालन भी करें वरना आपको जुर्माने के साथ साथ जेल भी हो सकती है। उपायुर्क्त का निर्देश परिवहन विभाग के सचिव संजय कुमार अग्रवाल के द्वारा दिया गया।

 

 

संजय कुमार ने निर्देश दिया कि यदि दोपहिया चालक तथा बिना हेलमेट के हो तो उसके ऊपर ₹1000 जुर्माना लगाएं और एंबुलेंस अग्निशमन तथा आपातकालीन वाहनों को रास्ता नहीं देने पर भी जुर्माना ऐसी गाड़ियों को भरना पड़ सकता है। और यदि गाड़ी चालक नाबालिक निकलता है तो उसके अभिभावक पर 25000 का जुर्माना या फिर 3 साल की सजा मिल सकती है वाहन का रजिस्ट्रेशन 12 माह के लिए कैंसिल किया जा सकेगा। वाहन परमिट की चेकिंग तथा ओवरलोडिंग वाहनों की चेकिंग भी की जाएगी।

 

 

जाने यातायात नियमों के पालन न करने पर कितना पड़ सकता है जुर्माना, और कितने साल की हो सकती है जेल –

 

 

नाबालिक गाड़ी चलाता है तो उसके अभिभावक पर ₹25000 जुर्माना तथा 3 साल की सजा और वाहन का रजिस्ट्रेशन 12 माह के लिए कैंसिल कर दिया जाएगा

 

वाहनों से वायु तथा ध्वनि प्रदूषण होने पर 10,000 जुर्माना तथा 3 माह की सजा मिलेगी। तथा दोनों को पुनरावृत्ति होने पर छह माह की सजा दी जाएगी और

 

यदि बिना हेलमेट के चालक मिला या फिर पीछे बैठी हुई सवारी के पास हेलमेट नहीं है तो उसके ऊपर ₹1000 जुर्माना तथा 3 माह के लिए वाहन परिचालन के लिए अयोग्य

 

दो पहिया वाहन पर दो से अधिक सवारी यदि निकलती है तो 1000 जुर्माना लगेगा और 3 माह के लिए वाहन परिचालन के लिए अयोग्य।

 

इसके साथ ही खतरनाक तरीके से ड्राइविंग यदि चालक कर रहा है तो 1000 से ₹5000 तक के जुर्माना देना पड़ेगा और 6 माह से 2 साल तक जेल हो सकती है

 

तथा रेसिंगं और स्पीडिंग के लिए ₹5000 जुर्माना तथा 3 माह की सजा मिलेगी।

 

बिना लाइसेंस गाड़ी चलाने वालों के लिए ₹5000 जुर्माने के साथ 3 माह की जेल होगी

 

और सीट बेल्ट यदि नहीं लगाई है तो ₹1000 जुर्माना देना पड़ेगा।

 

एंबुलेंस अग्निशमन वाहन तथा आपातकालीन वाहन को यदि रास्ता नहीं दिया जाता है तो उस पर ₹10000 जुर्माने के साथ 3 माह की जेल होगी।

गाड़ी चलाते वक्त मोबाइल से बात या फिर अन्य कोई संचार उपकरण का इस्तेमाल करने पर ₹10000 जुर्माना तथा 2 वर्ष का कारावास हो सकता है।

इसके साथ ही सिर्फ केवल मोबाइल पर बात करने पर 1000 से 5000 तक जुर्माना लगेगा और 3 माह की जेल होगी।

 

शराब पीकर जो लोग वाहन चलाते हैं उनके लिए ₹10000 जुर्माना रखा गया है और छह माह की सजा हो सकती है।

 

और यात्री वाहन की ओवर लोडिंग पर 200 रू जुर्माना हर यात्री पर देना पड़ेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.