#

वाहन चलाने वाले यह बात भूल जाते हैं, कि जिंदगी केवल एक बार मिलती है। लोगों की जिंदगी बचाने के लिए पुलिस को अब उन पर डंडे बरसाने पड रहे हैं। अपनी जिंदगी बचाना है इस बात को भूल कर वह हवा में वाहन उड़ाते हैं ,नियमों का उल्लंघन करते जिसको रोकने के लिए अब तक 53 लाख ₹550 का जुर्माना वसूला जा चुका है।

 

जी हां हम बात कर रहे हैं गया जिले की, गया जिले में 2021 जनवरी से लेकर अब तक यानी जून माह तक 1 लाख 14 हजा़र 442 वाहनों को नियमों के उल्लंघन करने के बाबत पकड़ा गया है और वाहन चलाने वाले चालकों के हेलमेट जूता तथा गाड़ी और कागजात अपडेट नहीं पाये गये, चार पहिया वाहन चालकों को यह पता होते हुए भी के सीट बेल्ट का उपयोग करना है। लापरवाही बरत रहे हैं। नौ पार्किंग जोन पर गाड़ी खड़ी आए दिन मिल रही है ,यातायात नियमों को जानते हुए भी अनदेखा कर रहे हैं। वाहन मालिकों से अब तक के सबसे ज्यादा मतलब के अब तक दो करोड़ 53 लाख 550 ₹ का जुर्माना वसूला जा चुका है। जुर्माना देने के बाद भी दिमाग ठिकाने नहीं लगे, हालाकि हिदायत बराबर मिल रही है फिर भी गलती पर गलती वाहन चालक कर रहे हैं और पुलिस ड्राइविंग लाइसेंस रद्द कर रही है।

 

 

7 जिले के कुल 54 थाने की पुलिस पदाधिकारियों ने की वाहनों की जांच –
अब तक गया  शहर तथा बोधगया के ट्रैफिक थाना के 7 जिले के कुल मिलाकर 54 थाने की पुलिस पदाधिकारियों ने वाहनों की जांच की है। गया कि ट्रैफिक पुलिस ने अपील भी की है कि वह अपनी जिंदगी बचाएं और आर्थिक दंड से भी अपने को बचाएं। यातायात नियमों का उल्लंघन ना करें एक व्यक्ति द्वारा नियमों का उल्लंघन करने का असर दूसरे व्यक्ति पर भी पड़ता है। और आपकी जिंदगी बहुत कीमती है। कृपया कर आप नियमों का उल्लंघन ना कर अपने आपको अपनी जिंदगी के साथ साथ अपने आप को आर्थिक दंड से भी बचाएं।

 

यह है जनवरी माह से जून तक जुर्माने की सूची।

जनवरी माह में कुल मिलाकर 32100 वाहनों से 5,22,1000 जुर्माना वसूला गया और, फरवरी में 16444 वाहनों से 33,52,200 जुर्माना वसूला गया।, मार्च माह में कुल वाहनों की संख्या 13227 रही जिनसे 28,48750 जुर्माना वसूला गया। अप्रैल माह में 13959 वाहनों से 24,40,500 जुर्माना वसूला गया और, मई में एक साथ वाहनों से 69,97,100 जुर्माना वसूला गया। जून माह में 20995 वाहनों से 44,41000 जुर्माना वसूला गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *