गुरुवार यानी के आज वेतन समझौता लागू करने तथा एलआइसी  के आइपीओ को वापस लेने के साथ-साथ कई मांगों से संबंधित एलआइसी कर्मी हड़ताल पर रहेंगे। हड़ताल में एलआइसी क्लास वन फेडरेशन विकास अधिकारी संगठन तथा ऑल इंडिया इंश्योरेंस इंप्लाइज़ यूनियन के सदस्य भी सम्मिलित रहेंगे।

 

 

उपर्युक्त के संबंध में गोरखपुर डिविजन इंश्योरेंस इंप्लाइज़ यूनियन के महामंत्री रूपेश पांडे ने जानकारी देते हुए कहा, के 5 करोड़ रुपए की प्रारंभिक पूंजी से प्रारंभ करके एलआईसी सरकार को तकरीबन 28000 करोड़ रुपए फायदा दे चुकी है। इसके अलावा गवर्नमेंट एलआइसी आइपीओ लाने तथा बीमा में एफडीआइ की लिमिट को तकरीबन 74% तक बढ़ाने जा रही है। गवर्नमेंट के इस निर्णय से एलआइसी के तकरीबन 42 करोड़ पॉलिसी धारक प्रभावित होंगे और एफडीआइ बढ़ने से देश की छोटी बचत की प्रवृत्ति प्रभावित होगी।

 

 

इस तरीके से सरकार को अपने निर्णय पर विचार करना चाहिए। एक दिवसीय राष्ट्रव्यापी हड़ताल में भारतीय जीवन बीमा निगम के सभी वर्ग हड़ताल में सम्मिलित होकर उपर्युक्त फैसले का विरोध करेंगे और इंश्योरेंस ऑफिसर आर्गेनाईजेशन ने मंडल कार्यक्रम पर सभा करके हड़ताल में सपोर्ट जाहिर किया , यही नहीं बल्कि नाइनो के मंडलीय महामंत्री डॉ अरविंद कुमार शुक्ला ने भी भारत सरकार एफडीआइ में बढ़ोतरी तथा आइपीओ में लाकर छायादार पेड़ को काटना चाहिए तो यह बीमा कर्मियों को बिल्कुल भी मंजूर नहीं है। इसके साथ ही सभा में देवाशीष चक्रवर्ती हिमांशु कुमार, अनिता श्रीवास्तव, बीडी तिवारी के साथ-साथ एएन दुबे, अजय तिवारी अन्य सभा में मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.