बिहार,( कुलसूम फात्मा )  महंगाई का सिलसिला अभी थमा नहीं के बिहार राज्य की जनता को बिजली विभाग भी झटका देने की फुल तैयारी में लगा हुआ है। बिहार में अप्रैल से बिजली महंगी होने की पूरी संभावना है क्योंकि बिजली कंपनियों ने दाम में वृद्धि के लिए प्रस्ताव तैयार कर लिया है। और अगर इस प्रस्ताव को बिहार राज्य विद्युत विनियामक आयोग मंजूरी दे देता है तो उपभोक्ताओं को अप्रैल माह से बढी़ वृद्धि दर की बिजली लेनी पड़ेगी।

 

 

 

सूत्रों के मुताबिक नॉर्थ तथा साउथ बिहार पावर डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी ने बिजली की दर में 10 परसेंट बढ़ोतरी करने का प्रस्ताव दिया है। वहीं दूसरी ओर फिक्स चार्ज को बढ़ाने का भी प्रस्ताव रखा गया है। इस पर अभी अंतिम निर्णय नहीं हुआ है। यदि बिजली कंपनियों की ओर से प्रस्ताव को मंजूरी दे दी जाती है तो पहले से महंगी बिजली लेनी पड़ेगी।

 

 

 

और यह बढ़ी बिजली की दर अप्रैल की 1 तारीख से लागू हो जाएगी। बिहार के दोनों विद्युत वितरण कंपनियों ने आयोग को बताया के हमारा वास्तविक नुकसान तकरीबन 30% से भी ज्यादा है। नुकसान की भरपाई के लिए कंपनियों ने बिजली बिल तथा फिक्स चार्ज में वृद्धि का उपाय बताया। राज्य में स्मार्ट तथा प्रीपेड मीटर के सिग्नल फेज का किराया 50रू है और कंपनी बढ़ा कर इसे 90 रू करना चाहती है। वहीं दूसरी ओर 3 फेज का किराया 100 रू है जिसको 120 करने का प्रस्ताव रखा गया है। इस प्रस्ताव को मंजूरी मिलते ही महंगी बिजली बिहार की जनता को झेलनी पड़ेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.