जंपिंग रीडिंग का कारण बताते हुए उपभोक्ता यदि  स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगवाने से इनकार करेंगे तो उनको नहीं छोड़ा जाएगा। इसके साथ ही विभाग ने स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाने के कार्य की पूरी तैयारी प्रारंभ कर ली है। सर्वप्रथम 45000 उपभोक्ताओं को इसका लाभ दिया जाएगा। क्योंकि बिजली विभाग की मर्जी अब उपभोक्ता को स्मार्ट प्रीपेड मीटर का लाभ देना है और बिजली के बिल से संबंधित परेशानियां तथा बिजली चोरी से मुक्ति मिलना हैं साथ ही उपभोक्ताओं को निर्बाध बिजली दीया जाना है।

 

 

 

जिले के 45 हज़ार उपभोक्ताओं को प्रथम चरण में मीटर का लाभ मिलेगा और शहरी क्षेत्र में 34,000 जिसमें मैरवा, 4 हजा़र रघुनाथपुर तथा दो हजार महाराजगंज और 5 हजा़र उपभोक्ताओं को सम्मिलित किया गया है। स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगाते समय जिन उपभोगक्ताओं का बिजली का बिल बकाया होगा, उन उपभोक्ताओं के कनेक्शन काट दिए जाएंगे। यही नहीं बल्कि जो उपभोक्ता प्रीपेड मीटर लगवाने से इनकार करेंगे या फिर आनाकानी करेंगे। ऐसे उपभोक्ताओं के  बिजली कनेक्शन काट दिए जाएंगे ।

 

 

 

अगस्त के पहले हफ्ते से मीटर लगाने का कार्य होगा प्रारंभ।

प्रीपेड मीटर से होगा फायदा प्रीपेड मीटर लगने के पश्चात गलत बिजली बिल आने की शिकायत उपभोक्ताओं की दूर हो जाएगी। इसके साथ ही चोरी भी रुक जाएगी
स्मार्ट प्रीपेड मीटर को आप रिचार्ज कर सकेंगे यही नहीं बल्कि जिन लोगों पास एंड्रॉयड मोबाइल नहीं है उन लोगों के लिए या फिर बूढ़े बुजुर्गों के लिए जो यह काम नहीं कर सकते हैं। उनकोे केवल इतना करना होगा के बिजली कंपनी के नंबर पीएवाई उपभोक्ता संख्या लिख कर मैसेज करना होगा। उसके बाद उपभोक्ता के घर एजेंसी के कर्मी खुद आएंगे और मीटर रिचार्ज कर चले जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *