पटना स्मार्ट सिटी डूरेशन के 5 वर्ष जैसे ही पूरे होंगे तत्पश्चात नगर निकायों को अपने स्तर से योजनाएं प्रारंभ करेगी। स्मार्ट सिटी के द्वारा योजनाओं का कार्य वर्तमान समय में पूरा हो चुका है। निकाय इससे आमदनी का जरिया बनाएंगे और इन नई योजनाओं के लिए बजट भी तैयार किया जाएगा।

 

 

 केंद्र तथा राज्य सरकार की तरफ से अतिरिक्त राशि स्मार्ट सिटी मद में नहीं दी जाएगी।

रूल के अनुसार जब 5 वर्ष का समय पूरा हो जाएगा तो उपरोक्त प्रक्रिया प्रारंभ होगी। बिहार के चार शहर पटना, भागलपुर, मुजफ्फरपुर तथा बिहार शरीफ में स्मार्ट सिटी की योजनाएं वर्तमान समय में संचालित हो रहीं हैं, जिसमें से ज्यादा से ज्यादा शहरों में स्मार्ट सिटी में चयनित योजनाओं को मंजूरी दे दी गई है। टेंडर के जरिए निर्माण कार्य को भी संचालित किया जा रहा है। बता दें बिहार के चयनित शहरों में जैसे भागलपुर का 5 वर्ष का समय पूरा होने वाला है और बहुत जल्द पटना तथा मुजफ्फरपुर में तकरीबन 1 वर्ष का समय बाकी है वहीं दूसरी ओर बिहारशरीफ स्मार्ट सिटी का भी समय 4 वर्ष के लिए पूरा हो गया है।

 

 

बता दें पटना के गांधी मैदान के संत जेवियर स्कूल के समीप फुट ओवर ब्रिज बनाने की प्रक्रिया प्रारंभ हो गई है। यह प्रक्रिया स्मार्ट सिटी मिशन के द्वारा प्रारंभ की गई है। स्मार्ट सिटी मिशन के द्वारा तकरीबन 2 करोड़ 41 लाख 43000 के व्यय से फुट ओवर ब्रिज बनाया जाएगा, जिसके लिए टेंडर की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी गई है। बता दें बिहार के शहरों की स्मार्ट सिटी रैंकिंग जारी कर दी गई थी। और बिहार के शहरों की रैंकिंग में सुधार किया गया। नगर विकास आवास विभाग के प्रधान सचिव के स्मार्ट सिटी मिशन के अध्यक्ष बनने के पश्चात योजनाएं गति के साथ पूरी की जा रही हैं। और इन योजनाओं की मॉनिटरिंग डिप्टी सीएम शाह, नगर विकास तथा आवास विभाग मंत्री तारकेश्वर प्रसाद कर रहें हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *