#

बिहार,( कुलसूम फात्मा )  बिहार सरकार इस वर्ष इंटर पास करने वाली छात्राओं को सौगात प्रदान कर रही है ऐसी छात्राएं जो अविवाहित हैं उनको ₹25000 स्नातक तथा समकक्ष परीक्षा पास करने पर लड़की को ₹50000 तोहफे के रुप में देगी। मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना के जरिए प्रदेश में उच्चतर शिक्षा को आगे बढ़ावा देने के लिए सरकार ने यह निर्णय लिया है।

 

आपको बता दें मंगलवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में मंत्रीमंडल की मीटिंग में इस प्रपोजल को मंजूरी दी गई। इस साल योजना के जरिए इंटर पास करने वाली 3.50 लाख तथा स्नातक करने वाली अविवाहित लड़कियों के लिए 80000 का यह फायदा दिया जाएगा और यह योजना प्रथम अप्रैल 2021 से लागू की जाएगी।

 

मंत्रिमंडल ने पंचायती राज विभाग के इस प्रस्ताव पर 3000 से कम आबादी वाले पंचायतों के रिआर्गेनाइजेशन के प्रपोजल को मंजूरी दे दी है। और प्रदेश में 3,000 से कम आबादी वाले पंचायतों को समीप की पंचायत से मिला दिया जाएगा। मंगलवार के दिन मुख्यमंत्री मीटिंग में मौजूद रहे तथा उनकी मौजूदगी में कुल 18 प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गई।

 

बदला एक्जाम पेटर्न।

इसके साथ ही मंत्रिमंडल ने सिपाही की पोस्ट पर नियुक्त के लिए होने वाली लिखित परीक्षा का नये पाठ्यक्रम को मंजूरी दी अब अभ्यार्थियों को हिंदी अंग्रेजी, गणित सामान्य विज्ञान तथा विज्ञान सामान्य ज्ञान और सामाजिक विषयों की 100 अंकों की लिखित परीक्षा देनी होगी। उसके बाद ही वह परीक्षा उत्तीर्ण कर सकेंगे। प्रश्न मैट्रिक परीक्षा के समकक्ष होंगे तथा हर एक प्रश्न के लिए एक नंबर दिया जाएगा और लिखित परीक्षा की दो कॉपियां अब बनेगी तथा एक कॉपी 2 साल तक मेहफूज़ रखी जाएगी।

 

 

शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए क्षात्राओं को मिलेगी धनराशि

 

कैबिनेट की मीटिंग के बाद कैबिनेट के प्रधान सचिव संजय कुमार ने कहा सुशासन के कार्यक्रम 2020 तथा 25 के जरिए मुख्यमंत्री कन्या उत्थान योजना को स्वीकृति दे दी गई है और इस योजना के जरिए राज्य में उच्चतर बालिका शिक्षा को काफी हद तक बढ़ावा देने का प्रयत्न किया जाएगा। इस योजना के जरिए इंटर पास करने वाली अविवाहित लड़कियों को ₹25000 तथा स्नातक पास करने वाली शादीशुदा और अविवाहित दोनों ही महिलाओं को ₹50000 की आर्थिक रूप से सहायता दी जाएगी।

 

कैबिनेट में 18 प्रस्ताव की मंजूरी में एक प्रस्ताव अल्पसंख्यक विद्यार्थियों के लिए

 

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अल्पसंख्यक के छात्र तथा छात्राओं को उनके जीवन को ध्यान में रखते हुए 34 करोड़ को मंजूरी दी और लगातार छह डाक्टरों के सेवा से गायब रहने पर उनको डिस्मिस करने का भी आदेश दिया मुख्यमंत्री विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना के अल्पसंख्यक छात्र और छात्राओं को प्रोत्साहन मद का पैसा सही समय में दिया जाएगा निर्देश दिए।

 

इसके साथ ही मंत्री मंडल की मीटिंग के पश्चात कैबिनेट के प्रधान सचिव से जब बातचीत की तो उन्होंने बताया अल्पसंख्यक कल्याण डिपार्टमेंट के जरिए चलने वाली मुख्यमंत्री विद्यार्थी प्रोत्साहन योजना के जरिए तकरीबन 33666 अल्पसंख्यक छात्र और छात्राओं को यह प्रोत्साहन राशि देने के लिए ₹340000000 को मंजूरी दे दी गई है। प्लान के जरिए मैट्रिक फर्स्ट क्लास पास करने वाले विद्याथीयोंको 10 हजार तथा इंटर फर्स्ट क्लास से पास करने वाले को 15 हजार दिए जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *