गोरखपुर, ( कुलसूम फात्मा ) रात 11:00 बजे के बाद ट्रेन में आए तो अपना मोबाइल फुल चार्ज कर आएं। जी हां अब एक और रेलवे का नया नियम आ गया है अब रात के 11:00 बजे तक यदि अपना मोबाइल फुल चार्ज ना किया तो आपका भी मोबाइल बंद हो सकता है बता दे रेलवे ने इस नए नियम द्बारा चार्जर प्वाइंट में भी बदलाव कर दिया है रात के 11:00 से सुबह के 5:00 बजे तक चार्जरपॉइंट को जोड़ने वाले स्विच अब बंद कर दिए जाएंगे गोरखपुर से बनकर चलने वाली गोरखधाम, हमसफर, गोरखपुर, ओखा तथा गोरखपुर, एलटीटी आदि के साथ-साथ पूर्वोत्तर रेलवे के सभी स्पेशल एक्सप्रेस ट्रेनों के स्विच बंद करने की प्रक्रिया प्रारंभ की जा चुकी है। और यात्रियों को जानकारी देने के लिए चार्जिंग प्वाइंट के आसपास जागरूकता से संबंधित मैसेज को भी चस्पा किया जा रहा है। यह आवश्यक निर्णय रेलवे ने शार्ट सर्किट की आशंकाओं को पूरी तरीके से अंकुश लगाने तथा सुरक्षा व्यवस्था को और भी मजबूत करने के लिए लिया।

 

 

ट्रेनों में आग लगने की अधिक रहती है संभावना –

मुख्य जनसंपर्क पंकज कुमार सिंह ने बताया के अधिकतर घटनाएं शॉर्ट सर्किट के द्वारा ही होती आई हैं। इधर यात्री देर रात्रि तक चार्जर प्वाइंट से मोबाइल चार्ज करते रहते हैं और वर्तमान समय में तो इतना ज्यादा मोबाइल का प्रयोग होने लगा है के लोग चार्जर पॉइंट में चार्जर लगाकर और मोबाइल हाथ में लेकर ही मोबाइल में व्यस्त रहते हैं। फिलहाल कोच में खुले इलेक्ट्रिक वायर भी दुरुस्त किए जाने लगे हैं। पेटींकार के साथ-साथ सभी कोचों की पूरी जांच के पश्चात ही ट्रेनें स्टेशनों से रवाना की जा रही हैं। विद्युत कर्मियों के साथ पेंट्रीकार के स्टाफ को भी प्रशिक्षित करने का प्लान बनाया जा रहा है।

 

 

 

दुर्घटनाओं पर पूर्ण रूप से रोक लगाने के लिए गोरखपुर में कोचों में धूमधाम निषेध के डिस्प्ले बोर्ड लगवाए जाएंगे। रेलवे बोर्ड ने कोचों में अग्निशमन यंत्र तथा अलार्म लगाना अनिवार्य कर दिया है। बता दें विस्फोट तथा ज्वालन शील पदार्थों को लेकर रेलवे ने सतर्कता रखने के लिए और भी व्यवस्था की जाए निर्देश दिए हैं। विस्फोटक तथा ज्वलनशील पदार्थ संबंधी यात्रियों पर रेलवे एक्ट के द्वारा करवाई तथा आर्थिक दंड लगाने की तैयारी चल रही है। इसके साथ ही अभियान चलाकर यात्रियों को जागरूक करने का भी प्लान बनाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.