#

मीठापुर बस स्टैंड के कीचड़ भरे पानी और परिसर में सुविधाओं की कमी होने से यात्रीयों को दिक्कत होती थी। परन्तु वर्तमान समय के इस निर्णय द्वारा इस दिक्कत से निजात मिल जाएगी इस बसों के यहां ना चलने के बाद सवाल ये उठता है यह बसें आखिर कहां से चलेंगी, तो बता दें इन बसों का परिचालन शनिवार से पूर्ण रुप से बंद कर इन बसों को नवनिर्मित अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल से चलाया जाएगा ।

 

एसडीएम सदर नितिन कुमार सिंह ने आदेश दिया,के यह बसें मीठापुर बस स्टैंड से ना चलकर अब बौरया से चलेंगी। जिनकी संख्या 2000 है। बरैया की सुविधाओं का यात्री अब प्रयोग कर सकेंगे। मीठापुर से ऑपरेट कर रहे ट्रांसपोर्टर ने बताया  बरैया मे सुविधाऐं तो हैं परन्तु शहर के अंदर आने जाने के लिए लोगों को बहुत दूरी तय करनी पड़ेगी। साथ ही समय अधिक लगेगा। बताया की बरैया जाने वाले रास्ते में जाम लगने की भी संभावना है।

 

बैरिया से चल रही है 600 बसें पहले से –

आपको बता दें मीठापुर बस स्टैंड से लगभग 26 सौ बसें चलती थीं, जिनमें 6 जिलों – गया नवादा जहानाबाद, जमुई नालंदा तथा शेखपुरा के लिए तकरीबन 600 बसों का परिचालन पहले से ही बैरिया से कराया जा चुका है और दो चरणों में मीठापुर से बैरिया शिफ्ट कर दी गई हैं यदि अंतिम चरण की बात करें तो अंतिम चरण में 32 जिलों को जाने वाली तकरीबन दो हजार बसें हैं और इन बसों को वहां से खोलने का फैसला लिया गया है।

 

पूर्ण रूप से नहीं निकला अभी निष्कर्ष –

बता दें शनिवार से नए बस स्टैंड भेजने के विरुद्ध वाहन मालिक बसों को चलाने का सिलसिला बंद रखेंगे। बिहार मोटर ट्रांसपोर्ट फेडरेशन के जिला अध्यक्ष चंदन सिंह ने बताया जुलाई की 31 तारीख से मीठापुर से अचानक ने बस पड़ाव पर जाने का प्रशासन दबाव बराबर बना रही है। परंतु नए बस स्टैंड से भी सुविधाओं का अभाव है वर्तमान समय में वहां से भी बसों को चलाना ठीक नहीं है क्योंकि जाम और दूरी वहां से तय करने की दिक्कत आएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *