#

क्या आपको पता है महानगर का एरिया 1000 किलोमीटर से बहुत जल्द अधिक होने वाला है। सूत्रों के अनुसार यदि माने तो महानगर में पुनपुन से लेकर बिहटा संपतचक के साथ-साथ समीप के कई ऐसे छोटे कस्बे हैं जिनको जोड़ने की बात चल रही है। इसके अलावा राजधानी महानगर के कई ऐसे भी कस्बें हैं जिनमें व्यवसायिक शैक्षणिक उद्योग तथा आवासीय क्षेत्रों बनाने की योजना है। वर्तमान समय में पूर्ण रुप से इसकी कार्ययोजना तैयार की जा रही है। आपको बता दें शहर की प्लानिंग तथा पटना का मास्टर प्लान 2031 तथा बिहार राज्य की अर्बन प्लानिंग एंड डेवलपमेंट 2031 के प्रावधानों के अनुसार तैयार होगा।

 

 

पटना मेट्रोपॉलिटन एरिया अथॉरिटी ने शहर को वर्तमान समय में क्षेत्रफल के हिसाब से पांच ग्रुप में बांट दिया है और 5 ग्रुप में बांटने का निर्देश नगर विकास आवास विभाग ने दिया अब 5 ग्रुपों को 14 जोन में डेवलप कर जोनल प्लान में टोटल 1065 वर्ग किमी से ज्यादा क्षेत्रफल को एजेंसी डेवलप करने हेतु ब्लूप्रिंट तैयार करेगी यदि इस खाके में पटना सेंट्रल के क्षेत्रफल की बात करें तो पटना सेंट्रल का क्षेत्रफल 75 वर्ग किमी तथा पटना अर्बन एरिया का क्षेत्रफल 14.86 किमी और पटना में स्पेशल एरिया 41.9 वर्ग किमी निश्चित किया गया है।

 

4 सड़के होगी इस तरह ।

बता दे 1065 वर्ग किलोमीटर एरिया को 14 भागों में बांटकर पटना के डिवेलप कार्य का खाका एजेंसी बनाएगी। साथ ही ये 4 सड़के इस तरह की होंगी इन सभी भाग में रोड नेटवर्क के साथ-साथ एक रूट मैप को तैयार किया जाएगा। जिसमें सबसे खास सड़क 80 मीटर चौड़ी होगी जिसको लोग सेंट्रल स्वाइन के नाम से पहचानेंगे , दूसरी सड़क 60 मीटर की होगी तथा तीसरी 45 मीटर की होगी और चौथी सड़क 30 मीटर की होगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *