कुछ समय पूर्व अवैध खनन तथा उसकी बिक्री पर रोक लगाई गई थी जिसके कारण बालू की कीमतों में तेजी से उछाल आई परंतु सरकार अब बालू  रेट में आए उछाल को तेजी से कम करने का प्रयास कर रही है। अवैध खनन पर रोक लगाने के साथ-साथ बिचौलियों पर भी कार्रवाई कर रही है। जिससे बालू के रेट में कमी आ सके।

 

 

 

बिहार राज्य सरकार के खनन विभाग ने वर्तमान समय में अवैध खनन के विरुद्ध कार्रवाई प्रारंभ कर दी है। क्योंकि सरकार की बहुत बदनामी हुई साथ ही राजस्व का नुकसान भी अवैध बालू खनन के मामले में पुलिस तथा परिवहन डिपार्टमेंट के बड़े ऑफिसर तक कोई नहीं छोड़ा जा रहा है पिछले माह डिपार्टमेंट ने अवैध खनन के विरुद्ध 4180 जगह छापेमारी की जिसमें 20.65 करोड रुपए का जुर्माना वसूला,और 785 केस भी दर्ज किए। इसके साथ-साथ 538 लोगों को गिरफ्तार भी किया और 6,000 से अधिक वाहन पकड़े

 

 

नदी से बड़े मोटर नाव की सहायता से हो रहा है अवैध खनन कार्य ।

कई कई हिस्सों में नदी से बड़े मोटर नाव की सहायता से अवैध खनन करने का काम किया जा रहा है। विभाग अवैध खनन पर रोक लगाने के साथ मोटर नाव को भी  जब्त कर रही है,कई  पकड़े जा रहे हैं। वाहनों से 25% जुर्माना वसूल रही है। मंत्री के अनुसार प्रधानमंत्री आवास योजना में बालू की आवश्यकता है और ऐसे में यदि बालू रेट  आसमान छुएंगा तो गरीबों का क्या होगा इसके लिए इस पर रोक लगाना जरूरी है बिहार सरकार के भूतत्व तथा खानन मंत्री जनक राम ने कहा उपर्युक्त प्रयासों से बहुत जल्द बालू ₹35 से ₹40 फिट की दर से लोगों को मिलेगी।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *