यूपी सरकार के ताज़ा आदेश के अनुसार नए मोटर व्हीकल एक्ट का उलंघन अब भारी पड़ने वाली है। सरकार के निर्देश के बाद त्वरित एक्सन लेते हुए परिवहन विभाग ने भी सिकंजा कसना शुरू कर दिया है। ताज़ा निर्देश के अनुसार अगर अगर किसी भी बस का एक साल के भीतर पाँच बार चालान कटा है, तो वैसे बस का परमिट तुरंत रद कर दिया जाएगा।

 

 

शासन ने परिवहन विभाग से यह भी सुनिस्चित करने को कहा है की सभी गाड़ियों में हाई सिक्यूरिटी नम्बर प्लेट लगी होनी चाहिए। हम सभी जानते है बीते दिनो में बाराबंकी में भ’यं’कर बस हा’दशे में 20 से अधिक लोगों ने अपनी जान गवाँ दी। निर्देश में साफ़ साफ़ कहा गया है की जिन बसो का परमिट पहले से जारी हुआ है उन बसो की भी जाँच होनी चाहिए। दुबारा जाँच में जो भी ड्राइवर नियम तोड़ते हुए पकड़े जाते है उनका ड्राइविंग लाइसेंस रद कर दिया जाए।

 

इस नए एक्ट में कई महत्वपूर्ण बदलाव किए गए है, इसके तहत मॉडर्न टेक्नोलोज़ी का इस्तेमाल करके ड्राइवरो के व्यवहार की निगरानी की जा रही है। नए एक्ट की सबसे ख़ास बात यह है की यातायात पुलिस को एक ख़ास अधिकार और सौंपा गया है वो यह है की अब पुलिस DL के साथ साथ ख़राब व्यवहार करने वाले वाहनमालिको के लाइसेंस के साथ साथ वाहन का रजिस्ट्रेशन को भी रद कर सकती है।

 

बसो के लिए ज़रूरी गाइडलाइन यह है की बस की बॉडी नियम के मुताबिक़ होनी चाहिए, अगर आपके पास बस का परमिट है तो आपको यह सुनिस्चित करना आवस्यक है की बस की स्थिति जर्जर नहि हो, अगर ऐसा है तो आपको बस सड़क पर चलाने की इजाज़त नही मिलेगी। इसपर रोक लगाने के लिए परिवहन विभाग ने जगह जगह विशेष अभियान चलाकर ऐसे बसो को ज़ब्त कर रहा है, और वर्षों के ज़ब्त बसो की नीलामी भी की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *