बिहार राज्य में दर्जनों बड़े पुलों का निर्माण अलग-अलग नदियों पर किया जा रहा है। जिस पर लगभग 27000 करोड रुपए खर्च किए जा रहे हैं। इन पुलों के निर्माण हो जाने से बिहार वासियों के लिए आवागमन पहले से अत्यंत सुलभ एवं आसान हो जाएगा। हाल ही में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा श्री कृष्ण सेतु का उद्घाटन किया गया है जिसके बाद वाहनों का आवागमन भी शुरू हो गया है। इस नवनिर्मित ब्रिज श्री कृष्ण सेतु के उद्घाटन हो जाने से सिर्फ मुंगेर कोई नहीं बल्कि कई जिलों को इसका फायदा पहुंच रहा है।

 

बिहार के अन्य जिलों में कई बड़े पुलों का निर्माण कार्य चल रहा है जैसे महात्मा गांधी सेतु के समांतर नया चार लेन का ब्रिज बनाया जा रहा है जोकि साल 2024 के मार्च महीने में पूरा हो जाएगा जानकारी के लिए आपको बता दें कि इस नए ब्रिज पर 2926 करोड़ों रुपए खर्च किए जा रहे हैं। बिहार के सुपौल जिले के परसरमा में भी नया पुल का निर्माण किया जा रहा है यह निर्माण कोसी नदी पर किया जा रहा है जिसकी लागत ग्यारह सौ दो करोड़ रुपए है। इस ब्रिज को साल 2023 के अगस्त महीने में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

गंगा नदी पर मोकामा में भी नया पुल बनाया जा रहा है जोकि छह लेन वाला पूल है, इस नए ब्रिज की लागत 1161 करोड़रुपए है। जिसे अगले साल के अक्टूबर महीने में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है, भागलपुर वासियों के लिए विक्रमशिला सेतु के समानांतर 1110 करोड़ रुपए की लागत से नया ब्रिज बनाया जाएगा, यह ब्रिज 2025 में पूरा होने की संभावना है जिसका टेंडर इसी साल जून में पूरा हो जाएगा। पटना से आरा से सासाराम के बीच इसी साल नवंबर महीने में नए ब्रिज का टेंडर पूरा हो जाएगा सोन नदी पर बनाए जाने वाले इस नए पुल की लागत लगभग 300 करोड़ रुपए बताई जा रही है।

 

 

बिहार को पड़ोसी राज्य उत्तर प्रदेश से संपर्क स्थापित करने वाले नए ब्रिज का उद्घाटन जल्द ही होने वाला है। जल्द ही राजधानी पटना से यूपी के शाहाबाद पहुंचना काफी आसान होने वाला है, क्योंकि बिहार के कोईलवर में बन रहे नए पुल की दूसरी लेन भी बनकर तैयार हो चुकी है, आखरी का बचा कार्य इसी महीने पूरा होने की उम्मीद है। ज्ञात हो कि साल 2020 के दिसंबर महीने में इस नए पुल का एक लेन का उद्घाटन किया गया था ।

 

 

लेकिन अब दूसरा लेन के भी शुरू हो जाने से गाड़ियां तेजी से फर्राटा भरेंगे। आवागमन पहले से अधिक आसान हो सकेगा। आपको बता दें कि पटना से दक्षिण बिहार और उत्तर प्रदेश के कई जिलों को यह पुल सीधे सड़क मार्ग से जोड़ता है एक तरह से इस पूल को इन क्षेत्रों के लोगों के लिए लाइफ लाइन ब्रिज भी मानी जाती है। इसी साल के अप्रैल या मई महीने में इस नए ब्रिज का उद्घाटन होने की सम्भावना है। इस नए ब्रिज के शुरू हो जाने से पटना से आरा आसानी से आया और जाया जा सकेगा। इस नए पूल के एक लेन की कुल चौड़ाई 16 मीटर है जिसमें 13 मीटर में वाहन चलाया जा सकेगा तथा डेढ़ मीटर फुटपाथ का हिस्सा रखा गया है जिस पर पैदल यात्री चल सकेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *