आज के इस सकारात्मक विचार में हम आपसे यूपी के उस परिवार की बात करने जा रहे हैं जिस परिवार में जन्मे है पांच बेटियों में तीन बेटियों ने ऑफिसर बन कर पूरे प्रदेश का नाम रोशन किया है। यह कहानी यूपी के उस पहले परिवार की है जिसमें पांच बेटियों के जन्म लेने के बाद उनके माता-पिता को कई तरह के ताने सहने पड़े थे।

 

 

उत्तर प्रदेश के बरेली जिले के फरीदपुर तहसील के नबदिया अशोक गांव के रहने वाले चंद्रसेन सागर और उनकी पत्नी मीना देवी के द्वारा 1981 में सबसे पहली बेटी का जन्म हुआ, बेटा पाने की चाहत में तीन और बेटियों ने जन्म लिया उसके बाद उन्हें एक बेटा प्राप्त हुआ। माता पिता ने समाज की परवाह न करते हुए अपने सभी बेटे बेटियों को खूब पढ़ाया।

आज चंद्रसेन सागर के परिवार में दामाद सहित दो is2 आईआरएस और एक आईपीएस ऑफिसर है। इनकी पांच बेटियों में तीन बेटियों में यूपीएससी परीक्षा में सफलता हासिल की वही दो बेटियों ने इंजीनियर बन कर दिखाया। समाज से मिले हुए ताने इस परिवार के लिए वरदान की तरह कार्य किया।

एक बेटी जिसका नाम अर्जित सागर है उन्होंने साल 2009 में अपने दूसरे प्रयास में यूपीएससी की परीक्षा में 628 वी रैंक लाकर आईआरएस ऑफीसर बनी। फिलहाल इनकी पोस्टिंग मुंबई में कमिश्नर कस्टम्स में की गई है इनके पति सुरेश मेरुगू भी एक आईआरएस ऑफिसर है।

दूसरी पुत्री का नाम अर्पित सागर है जिन्होंने साल 2015 में अपने दूसरे प्रयास में आईएएस अधिकारी बन गई जो कि फिलहाल गुजरात कैडर में वलसाड में डीडीओ के पद पर तैनात हैं। जिनकी शादी एक बैंक कर्मी विपुल तिवारी से की गई है।

एक और बेटी जिसका नाम आकृति सागर है इन्होंने यूपीएससी में साल 2016 में दूसरे प्रयास में सफलता प्राप्त करके आईएएस ऑफिसर बनी जो कि अभी दिल्ली जल बोर्ड के डायरेक्टर के रूप में कार्यरत हैं। इनके पति भी एक आईपीएस ऑफिसर है जिनका ना सुधांशु धामा है वह भी अभी फिलहाल दिल्ली में ही पोस्टेड है।

दो बहन अंशिका और अंकिता सागर पेशे से ग्राफिक्स इंजीनियर हैं जो कि वर्तमान समय में मुंबई और नोएडा में प्राइवेट जॉब कर रही हैं चौथी बेटी की शादी एक ग्राफिक्स इंजीनियर से ही की गई है जिसका नाम गौरव असोलिया है। तीसरी बेटी की शादी अभी नहीं की गई है बेटे की बात की जाए तो बेटा एक फिल्म डायरेक्टर है जिसका नाम अमीश सागर है। अमित सागर फिल्म मलंग में बतौर असिस्टेंट डायरेक्टर काम कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.