#

बिहार में अलग-अलग नदियों पर दर्जनों पुलों का निर्माण कार्य चल रहा है। इसके अलावा कई पुलों का निर्माण कार्य पुरा भी हो चुका है, और उसे जनता के लिए खोल दिया गया है। इनमे कुछ पूल ऐसे भी हाई जिनका पूल निर्माण तो पुरा हो चुका है, लेकिन अप्प्रोच पथ के अधूरे निर्माण के वजह से आवागमन शुरू नही किया जा सका है। इसके कई प्रकर के वजह मौजूद है।

 

नदियों पर पूल का निर्माण करना सरकार तथा एजेंसी को किसी प्रकार का मशक़्क़त नही करना पड़ता है, क्योंकि पूल का निर्माण नदी पर होता है और नदी का ज़मीन किसी व्यक्ति की निजी संपती नही होती, समस्या शुरू होता है, पूल के अप्प्रोच सड़क से क्योंकि पूल तक पहुचने के लिए जो अप्प्रोच सड़क बनाई जाती है, उसके लिए ज़मीन का अधिग्रहण करना होता है।

 

ज़मीन अधिग्रहण करने मे अगर पेच फँसता है या ज़मीन के मलिक ज़मीन देने के लिए राज़ी नही होते है इसका एक वजह सरकार या एजेंसी द्वारा उचित मुआवज़े का नही देना या किसान द्वारा दिए हुए ज़मीन से अधिक ज़मीन का अधिग्रहण होना शामिल हैं।

 

बिहार मे पटना जिले मे मीठापुर से पुनपुन के तरफ़ जाने के लिए आज से 17 साल पहले ROB रेलवे ओवर ब्रिज बनाए जाने का काम शुरू हुआ, जो की आज तक पूरा नही हो सका, इसका वजह भी ज़मीन का अधिग्रहण नही होना है बता दें की इस ROB के शुरू होने के 16 साल से 75 मीटर भूमि अधिग्रहण किया जा रहा था जो की इस साल जाकर सफल हुआ है, ज़मीन के मालिक को इस साल मुआवज़ा डेकर ज़मीन का अधिग्रहण सफलता पूर्वक कर लिया गया हैं।

 

अब जल्द ही इस प्रोजेक्ट पर निर्माण कार्य फिर से शुरू हो जाएगा, इस प्रोजेक्ट के लिए साल 2005 में ही 187 करोड़ राशि की स्वीकृति दी गयी, रेलवे ने इसके बाद निर्माण कार्य भी शुरू किया, इस प्रोजेक्ट में दो साइट में एलिवेटेड सड़क बनाने की योजना शामिल है, पहला एलिवेटेड सड़क मीठापुर गोलंबर की ओर बनाई जानी है। निर्माण एजेंसी इरकान द्वारा मिली जानकारी के अनुसार दिसम्बर 2022 में इस प्रोजेक्ट को पूरा कर लिया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *