बिहार राज्य दिन पर दिन स्टार्टअप हब के रूप में उभरता नजर आ रहा है। आईटी मंत्री ने कहा आईटी क्षेत्र में राज्य के युवाओं के लिए ज्यादा से ज्यादा रोजगार मुहैया कराया जा सकता है जिसमें इनवेस्ट आईटी बिहार, कैंपेन का एम निवेशकों तथा उद्यमियों को आईटी के फील्ड में निवेश के लिए इनकरेज करना है। आने वाले समय में बिहार की राजधानी पटना में 30 किमी की दूरी, बिहटा में बेंगलुरु इंटरनेशनल टेक पार्क के साथ साथ हैदराबाद सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क, जैसा खुबसूरत आईटी पार्क का निर्माण होगा।

 

 

मंत्री जीवेश कुमार के अनुसार आईटी विभाग ने बिस्कोमान टावर की नवी तथा तेरवी मंजिल पर तकरीबन 12000 वर्ग फिट क्षेत्रफल में 24 घंटे पावर बैकअप , वाईफाई के साथ-साथ आधुनिक सुविधाओं से लैस 78 वर्क स्टेशन तथा 33 केबिन के साथ साथ 60 सीटों वाले कॉल सेंटर को बनाने का निर्णय लिया है। बता दें वर्तमान समय में विभिन्न क्षेत्रों में बिजनेस में प्रक्रिया आउटसोर्सिंग, नॉलेज प्रोसेस आउटसोर्सिंग के साथ-साथ डाटा एनालिटिक्स इंटरनेट ऑफ थिंग्स तथा बिजनेस प्रोसेस मैनेजमेंट जैसे वर्क करने वाले 80 से ज्यादा स्टार्टअप कर रेंट फ्री ऑफिस स्पेस के अलॉटमेंट के खातिर रजिस्ट्रेशन कराया गया है।

 

आइए जानते हैं कहां विकसित हो रहे हैं ये आईटी पार्क

बिहार में पटना बिहटा राजगीर दरभंगा के साथ-साथ भागलपुर में आईटी पार्क को डवेलप करने का कार्य प्रारंभ हो रहा है। इसके साथ ही 5 आईटी पार्क की स्थापना भी राजधानी के डाकबंगला चौराहे के समीप सबसे बड़े आईटी टावर को बनाने के लिए प्लान पर चर्चा हो रही है। यही नहीं बल्कि कंपनियां जो कि आईटी कंपनियां हैं। आईटीएस तथा इलेक्ट्रॉनिक कंपनियों को अपने कार्यालय स्थापित करने के लिए अपने ऑफिस को स्थापित करने के लिए जगह दी जाएगी। और इसके द्वारा राज्य के युवाओं को रोजगार प्राप्त होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *