भागलपुर,( कुलसूम फात्मा )  शनिवार के दिन समाहरणालय के रिव्यु भवन में डीएम सुब्रत कुमार सेन की अध्यक्षता में मीटिंग आयोजित हुई, जिसमें खास निर्णय लिया गया के इस बार सरस्वती पूजा का आयोजन नहीं होगा।

 

 

जी हां, इस बार सार्वजनिक स्थानों पर डीएम सुब्रत कुमार सेन ने निर्णय लिया के सरस्वती पूजा का आयोजन नहीं किया जाएगा  सरस्वती पूजा के संबंध में विधि व्यवस्था से संबंधित जनपद स्तरीय शांति समिति के साथ-साथ डीएम ने मीटिंग की। इस मौके पर डीएम ने कहा कोविड-19 के वजह से उत्पन्न परिस्थितियों को का ख्याल रखते हुए तथा संक्रमण से बचने के लिए निर्धारित सावधानियों का पालन होगा तथा सार्वजनिक स्थानों पर पूजा के आयोजन इस बार नहीं किए जाएंगे। सार्वजनिक स्थलों पर पूजा  नहीं की जाएगी,  निजी स्थलों तथा मंदिर में पूजा के आयोजन क्रम में कोविड-19 के नियमों का पूर्ण रुप से पालन किया जाएगा और पूजा स्थल के समीप तोरण द्वार का भी निर्माण नहीं होगा।

 

इसके साथ ही मेला के आयोजन पर भी रोक लगाई। डीजे के उपयोग पर भी पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया गया है। इसके साथ ही डीएम ने कहा पूजा का आयोजन पूर्ण रूप से शांतिपूर्ण और सद्भाव पूर्ण वातावरण में किया जाएगा, जिसमें कोविड-19 के नियमों को पूरी तरीके से फॉलो किया जाएगा। मीटिंग में उपस्थित शांति समिति सदस्यों ने पूजा से संबंधित अपने सुझाव दिए और जिला प्रशासन को अवगत कराया गया।

 

प्रतिमाओं के विसर्जन का लिया गया निर्णय

शनिवार को सरस्वती पूजा से संबंधित जब मीटिंग हुई तो उसमें निर्णय लिया गया कि 19 फरवरी को सभी प्रतिमाओं को विसर्जन किया जाएगा। सरस्वती पूजा से संबंधित नाथ नगर थाने में शिव राजेश कुमार तथा नाथनगर इंस्पेक्टर मोहम्मद सज्जाद हुसैन की अध्यक्षता में संयुक्त रूप से मीटिंग हुई, जिसमें सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया गया। 16 से 19 फरवरी तक सभी प्रतिमाओं का  विसर्जन होना तय किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.