बिहार,( कुलसूम फात्मा )   बिजली उपभोक्ताओं को समय के अंतर्गत रिचार्ज नहीं कराया है तो करा ले क्योंकि स्मार्ट प्रीपेड मीटर लगा रहे बिहार की बिजली उपभोक्ताओं को समय पर रिचार्ज ना कराने पर अब शुल्क देना पड़ेगा। यदि उपभोक्ता ने रिचार्ज नहीं कराया है और डिस्कनेक्शन हो गया है तो पुनः कनेक्शन करवाने के लिए उपभोक्ता को कुछ पैसे देने होंगे। वर्तमान समय में शुल्क तय नहीं है, परंतु जल्द ही यह शुल्क भी तय हो जाएगा। बिजली कंपनी ने 1 अप्रैल से लागू नियम को बिजली दर की याचिका में यह प्रस्ताव दे दिया है।

 

 

अधिकारियों ने बताया की प्रीपेड मीटर में खर्च के हिसाब से प्रतिदिन पैसे की कटौती की जाएगी और बिहार बिजली स्मार्ट मीटर ऐप के जरिए उपभोक्ता अपने मोबाइल पर इसकी जानकारी भी देख सकेंगे। खर्च के आधार पर ही उपभोक्ताओं को 7 दिन के पूर्व मीटर रिचार्ज कराने की प्रथम नोटिस दी जाएगी। प्रीपेड मीटर राशि शून्य होने पर दूसरी नोटिस भी दी जाएगी। शुल्क राशि सुन्य होने के 24 घंटे के अंतर्गत यदि उपभोक्ता ने प्रीपेड मीटर रिचार्ज नहीं किया तो बिजली काट दी जाएगी ,इसके साथ ही तीसरी नोटिस में उपभोक्ता को डिस्कनेक्शन की जानकारी दी जाएगी। इस डिस्कनेक्शन के पश्चात हर चौथे दिन उपभोक्ता को मीटर रिचार्ज कराने की रिक्वेस्ट की जाएगी।

 

कंपनी ने उपर्युक्त की जानकारी देते हुए आयोग से कहा यदि अधिक दिनों तक डिस्कनेक्शन रहता है तो इसके पश्चात कोई पुनः बिजली की सेवा लेना चाहे तो इसके लिए कुछ शुल्क लिया जाएगा। आयोग ने कुछ जो राशि इसके लिए ली जाएगी अभी तय नहीं की। राशि क्या होगी और कितने दिन तक डिस्कनेक्शन रहने के पश्चात देनी होगी यह आयोग को ही तय करना पड़ेगा। कंपनी का मानना है की राशि लगने के पश्चात यह साफ हो जाएगा उपभोक्ताओं को पुनः से बिजली खर्च का अंकित मूल्य पता चल चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.