गोरखपुर,( कुलसूम फात्मा )   आपको बता दें के गोरखपुर के असुरन पोखरे के आधे से भी अधिक हिस्से पर अतिक्रमण किया जा चुका है। तहसील प्रशासन ने पोखरे का चिन्हित कर लिया है और अब इस अतिक्रमण को हटाने का कार्य प्रारंभ हो जाएगा। पोखरा के क्षेत्रफल को खाली करवाने के लिए टीम को गठित कर कुछ लोगों के खिलाफ नोटिस भी भेज दी गई है।

 

 

आपको बता दें की शहर के मध्य में स्थित यह असुरन पोखरा का मूल क्षेत्रफल तकरीबन साढे 9 एकड़ का है, पर धीरे-धीरे इसके दायरे को घटा हुआ देखा गया तथा जमीन की खरीद तथा बिक्री भी होती रही। जमीन खरीदने के पश्चात कई लोगों ने कंस्ट्रक्शन कार्य भी करा। यहां 100 से ज्यादा आवासीय तथा कमर्शियल भवन बनाए गए जो के अवैध हैं तथा अवैध कब्जा कर लिया गया है।

 

 

अभी ताल पोखरों को खाली कराने के लिए अभियान एसडीएम ज्वाइंट मजिस्ट्रेट सदर गौरव सिंह सोगरवाल ने असुरन पोखरे का क्षेत्रफल चेक करने के लिए कमेटी बनाई है। इसकी रिपोर्ट के अनुसार तकरीबन 9.5 एकड़ क्षेत्रफल वाला यह पोखरा वर्तमान में 4.5 एकड़ में ही सिमट कर रह गया है। कंस्ट्रक्शन कार्य करने वालों को तकरीबन 10 दिन के अंतर्गत अपनी बात को सामने रखना होगा। उनको सिर्फ 10 दिन ही दिये गये है। इसके पश्चात तहसील की टीम वहां पर कब्जे को खाली कराने की प्रक्रिया प्रारंभ कर देगी और 10 दिन बाद लोगों की एक नहीं सुनेंगी, असुरन पोखरे का क्षेत्रफल चेक करने के लिए कमेटी बनाई गई थी। रिपोर्ट आ गई है। बड़े हिस्से पर अतिक्रमण है है इसलिए इसे जल्द ही हटाए जाने की प्रक्रिया प्रारंभ होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.