गोरखपुर,( कुलसूम फात्मा )  कोरोना महामारी के कारण कोर्ट बंद किए गए लेकिन इलाहाबाद उच्च न्यायालय के अनुसार कोर्ट खोल दिए जाएंगे। इसके बाबत जनपद न्यायाधीश दुर्ग नारायन सिंह ने दिशा निर्देश दिए हैं। विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव राहुल सिंह से बातचीत के दौरान पता चला जनपद न्यायाधीश सभी खास क्षेत्राधिकार प्राप्त न्यायालय, मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट सिविल जज सीनियर डिवीजन और सिविल जज जूनियर डिवीजन के संचालित होंगे तथा नियमों में नए तथा लंबित जमानत प्रार्थना पत्र अग्रिम जमानत प्रार्थना पत्र ,जरूरी अपराधिक प्रकरण, के साथ प्रार्थना पत्र जरूरी सिविल प्रार्थना पत्रों, विचाराधीन बंदियों से संबंधित न्यायिक कार्य अन्य मामले भी सुने जाएंगे। वकील अपने जमानत प्रार्थना पत्र और अग्रिम जमानत जमानत प्रार्थना पत्र तथा अन्य आवश्यक प्रार्थना पत्रों को दाखिल करने के लिए कोर्ट के जरिए ईमेल का इस्तेमाल करेंगे

 

 

 

 

इस Gorakhpurfilin[email protected] के प्रयोग द्वारा प्रार्थना पत्रों को कंप्यूटर अनुभाग संबंधित न्यायालय को प्रेषित करेंगा और वकीलों को कंप्यूटर अनुभाग के जरिए कोर्ट एप के द्वारा कार्यप्रणाली की सूचना भी दी जाएगी। वकीलों तथा वादकारियों के मदद के लिए मोबाइल नंबर 9415858767 दूसरा मोबाइल नंबर 8004678309 हेल्पलाइन के लिए निश्चित किए गए हैं।

 

 

 

और वहीं दूसरी तरफ सिस्टम अधिकारियों को वर्चुअल कोर्ट रूम में जरूरी व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए गए जीआईटीएसआई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सुनवाई होगी और न्यायालय में वकीलों के लिए सिर्फ चार कुर्सियां उपलब्ध होंगी। न्यायालय में एंट्री करने वाले सभी व्यक्तियों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.