गोरखपुर,( कुलसूम फात्मा )   योगी सरकार बहुत जल्द वाराणसी तथा राम नगरी अयोध्या के साथ-साथ राज्य के 14 बड़े शहरों का विकास करेगी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शहरों में बढ़ती हुई संख्या तथा बढ़ते हुए मकान और कार स्कूटर तथा आने वाले समय की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए मास्टर प्लान में बदलाव करने के निर्देश दिए बहुत जल्द लखनऊ के साथ-साथ सूबे के 14 बड़े शहरों, जैसे की लखनऊ ,गोरखपुर के साथ-साथ अन्य 14 शहरों का नया मास्टर प्लान बनाया जाएगा।

 

 

इन 14 शहरों का होगा कायाकल्प।

ऐसे शहरों में लखनऊ के साथ-साथ कानपुर तथा चित्रकूट तथा गोरखपुर और वाराणसी प्रयागराज झांसी, आगरा मथुरा बरेली, मेरठ सहारनपुर, मुरादाबाद तथा गौतम बुद्ध नगर को सम्मिलित किया गया है। आने वाले समय की आवश्यकताओं के जरिए कायाकल्प कराना मुख्यमंत्री की बेहद महत्वकांक्षी योजना है। शहरों के मास्टर प्लान में संशोधन करने जैसे के प्लान में इतिहास के धार्मिक महत्व वाले स्थलों को खूबसूरत बनाया जाने के साथ संरक्षण के कार्य कराए जाएंगे तालाबों, जलाशयों, झीलो आदि को भी सम्मिलित करने के साथ वाइल्ड लाइफ सेंचुरी रिजर्व फॉरेस्ट पर्यावरण और अन्य क्षेत्रों का भी खास ध्यान रखा जाएगा।

 

 

इन बड़े शहरों का सिटी डेवलपमेंट प्लान तैयार कराने के लिए आवास विभाग में कंसल्टेंट के चयन पर विचार विमर्श प्रारंभ हो गया है। विभाग के अधिकारियों से बातचीत के बाद पता चला सीएम के निर्देशानुसार शहरों के उपर्युक्त शहरों के तैयार किए जाने वाले मास्टर प्लान में नए सिरे से शहरों के काफी एरिया को भू उपयोग भी निर्धारित होगा इसके लिए आवश्यकता अनुसार कार्रवाई भी शुरू कर दी गई है। मास्टर प्लान तैयार करने में शहरों में आवश्यकता के हिसाब से उपयोग निर्धारित किया जाएगा, नदियों हवाई अड्डा बस स्टैंड क्षेत्रों के साथ-साथ कई चीजों को मास्टर प्लान में प्रदर्शित किया जाएगा। नया मास्टर प्लान जीआईएस पर आधारित होगा सचिव आवास की अध्यक्षता में बनी समिति मास्टर प्लान में आवश्यकता के हिसाब से जोड़ने के लिए प्रस्ताव तैयार करेगी

Leave a Reply

Your email address will not be published.