गोरखपुर,( कुलसूम फात्मा )  गोरखपुर शहर के विकास के लिए प्रस्ताव को मार्च की 10 तारीख को दोपहर के समय 1:00 बजे आयोजित होने वाली गोरखपुर विकास प्राधिकरण बोर्ड की मीटिंग में रखा जाएगा। असल में ये विकास अयोध्या के तर्ज पर होगा। इसके लिए सिटी डेवलपमेंट कार्य योजना बनाई जा रही है। मीटिंग के बाद प्लान बनाने के लिए एक कंसलटेंसी फर्म को भी चयनित किया जाएगा।

 

दिया जाएगा किसानों को मुआवजा।

गोरखपुर विकास के साथ-साथ जीडीए बोर्ड की मीटिंग में मानबेला के किसानों को मुआवजा देने के साथ-साथ बाकी बिन्दुओं पर भी विचार विमर्श किया गया   बता दे सिटी डेवलपमेंट प्लान के जरिए शहर में पर्यटन केंद्रों का विकास तथा धार्मिक और सांस्कृतिक दृष्टि से खास स्थलों का विकास और ऐतिहासिक भवनों और स्थलों का सुदृढ़ीकरण और सुंदरीकरण करने के साथ-साथ आधारभूत संरचना के लिए मॉडल बनाया जाएगा।  विकास की योजना चयनित की जाने वाली फर्म ही करेगी योजना के जरिए सभी विभाग उनसे जुड़े हुए काम को फन्डेड करेंगे इससे संबंधित प्रस्ताव भी जीडीए बोर्ड की मीटिंग में रखा जाएगा। जिला न्यायधीश के यहां दाखिल केस में किसानों के पक्ष में निर्णय हो चुका है और तकरीबन 70 लाख रुपए प्रति हेक्टेयर की दर से मुआवजा दिया जाना है। न्यायाधीश के निर्णय के पश्चात प्रधिकरण बोर्ड के समक्ष रखने जा रहा है। स्वीकृति मिलने के पश्चात ही किसानों को बढ़ाकर मुआवजा दिया जाएगा। इसके पश्चात मानबेला का केस खत्म हो जाएगा।

 

आइए जानते हैं अयोध्या विकास कामाडल

अयोध्या विकास के लिए आवास विभाग की तरफ से 10 प्रोजेक्ट को चयनित किया गया है। पर्यटन विकास, जलापूर्ति, जल निकासी, वर्षा जल संचयन तथा सौर ऊर्जा सीवरेज साथ-साथ कई तरह के काम किए जाएंगे। अयोध्या में ग्रीन फील्ड टाउनशिप का भी विकास किया जाना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.