बिहार,( कुलसूम फात्मा )  मेट्रो कंस्ट्रक्शन कार्य गति के साथ चलते हुए देख अंदाजा लगाया जा सकता है की पटना में मेट्रो 2 साल में दौड़ने लगेगी। क्योंकि नए वर्ष पर पटना मेट्रो रेल प्रोजेक्ट का कार्य तेजी से होना प्रारंभ हो गया है।

 

इसके साथ ही मेट्रो के आईएसबीटी डिपो में गेट ट्रैक बिछाने का कार्य बहुत जल्द प्रारंभ होने वाला है क्योंकि कंस्ट्रक्शन एजेंसी, दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन की तरफ से इसकी निविदा जारी कर दी गई है। और इस कार्य को तकरीबन 2 वर्षों के अंतर्गत पूरा करना होगा। इसमें तकरीबन खर्च 17.97 होगा। इस महीने जनवरी की 29 तारीख को मीटिंग होगी और टेंडर भरने की जो आखिरी डेट है वह 18 फरवरी की रखी गई है। और इसी के जरिए सप्लाई इंस्टॉलेशन, टेस्टिंग तथा कमिश्निंग आने का कार्य करना पड़ेगा।  आपको बता दें की 5 वर्ष में मेट्रो का पहला फेज पूर्ण करने की तैयारी है और सबसे पहले मलाही पकड़ी से नए बस स्टैंड तक यह संचालन प्रारंभ किया जाएगा। इससे संबंधित जमीन अधिग्रहण से लेकर काम तेजी के साथ किया जा रहा है।

27 पदाधिकारियों की होगी नियुक्ति 

 

 

पटना मेट्रो कंस्ट्रक्शन कार्य को गति देने के लिए 27 पदाधिकारियों की नियुक्ति की जाएगी और इसके लिए आवेदन प्रक्रिया को पूरा किया जा चुका है। स्क्रूटनी के पश्चात वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए साक्षात्कार होगा। इसके लिए पटना मेट्रो रेल कॉरपोरेशन लिमिटेड के प्रबंधक डायरेक्टर की अध्यक्षता में कमेटी का गठन किया गया।

 

 

जाने क्या है उद्देश्य

पटना मेट्रो रेल प्रोजेक्ट का उद्देश्य सड़कों पर यातायात के बढ़ते दबाव को कम करने का है। इस यातायात के बढ़ते हुए दबाव को मेट्रो के द्वारा कम किया जाएगा तथा पटना में कई एलिवेटेड मार्ग तथा नए पुल बनवाए जाने के पश्चात जाम की समस्या से आम जनता को निजात मिलेगी। इसके साथ ही मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के प्लान को वक्त के साथ पूरा किया जाए उद्देश्य है मेट्रो के परिचालन के मामले में पटना, देश के अन्य कई स्टेट की राजधानियों से काफी पीछे चल रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.