#

भागलपुर,( कुलसूम फात्मा )  बिहार में स्थित भागलपुर काफी पुराना प्रमंडल एरिया होने के साथ-साथ स्मार्ट सिटी में भी सम्मिलित है। इस प्रबंडल के क्षेत्रफल तथा आबादी के हिसाब से सड़कों पर वाहनों के दबाव को देखते हुए सुविधाएं नहीं बढ़ाई जा रही है जिसके वजह से शहर में हर दिन ट्रैफिक व्यवस्था बिगड़ती जा रही है और जगह जगह चौराहों पर ट्रैफिक पुलिस कर्मियों के ना होने की वजह से शहर में स्थिति यह है कि जगह-जगह ट्रैफिक जाम हो जाता है ऐसी स्थिति में ट्रैफिक व्यवस्था को सही करने के लिए विचार विमर्श किया जा रहा है।

 

 

 

शहर में सड़कों पर वाहनों के दबाव की हालत यह है की हर रोज वाहन के दबाव में बढ़ोतरी हो रही है। बिहार के साथ-साथ झारखंड बंगाल, असम, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, दिल्ली तथा राजस्थान हरियाणा, महाराष्ट्र उड़ीसा, कर्नाटक आंध्र प्रदेश तथा तमिलनाडु राजस्थान हिमाचल प्रदेश के साथ-साथ देश के बाकी स्थानों से 30,000 भारी वाहनों के साथ-साथ तकरीबन साढे 3 लाख से भी अधिक गाड़ियां भागलपुर से होकर के गुजरती हैं, जिनमें ज्यादातर वाहनों की क्षमता से अत्यधिक माल लोड होता है और ओवरलोड वाहनों से नुकसान पहुंचने के साथ साथ डिपार्टमेंट के राजस्व को भी हानि पहुंचती है। ओवरलोड के वजह से गाड़ियां खराब होने से ज्यादातर जाम की समस्या उत्पन्न हो जाती है।

कर्मियों की ओर से बरती जा रही है लापरवाही

बता दें हर रोज 50 से 60 वाहनों के रजिस्ट्रेशन के साथ 100 से 125 ड्राइविंग लाइसेंस अन्य काम से संबंधित 200 ,250 आवेदन किए जाते हैं, जिसमें कर्मियों की कमी यह है की वह ओवरलोड वाहनों के विरुद्ध रेगुलर तरीके
से कोई भी कार्रवाई नहीं करते बल्कि कार्यालय का कार्य भी प्रभावित होता जा रहा है। वर्तमान समय में 1 एमवी तथा तीन प्रवर्तन पदाधिकारियों की प्रतिनियुक्ति की गई है।

 

 

 

बहुत जल्द सिल्क सिटी में ट्रैफिक स्मार्ट होने का प्रयत्न किया जा रहा है

 

 

 

बहुत जल्द सिल्क सिटी में ट्रैफिक स्मार्ट होने का प्रयत्न किया जा रहा है  और यह व्यवस्था भी आबाद हो जाएगी। इसके लिए 4 अतिरिक्त मोटरयान निरीक्षक तथा तीन प्रवर्तन पदाधिकारियों के प्रतिनियुक्ति की जाएगी। इसके साथ डिपार्टमेंट का अपना सुरक्षा बल होगा और उधार के जवानों से निजात मिल जाएगी। सालाना तकरीबन डेढ़ सौ करोड़ का राजस्व देने वाला जनपद परिवहन विभाग को मजबूत बनाने में सरकार पूर्ण रूप से कार्य कर रही है। इसके अलावा यदि बात करें हम तो इस डिपार्टमेंट को अपना सुरक्षा बल भी बहुत जल्द होगा।

 

 

विभागीय अधिकारियों ने बताया कि प्रवर्तन पदाधिकारियों के कंपटीशन एग्जाम प्रारंभ हो चुके हैं। एग्जाम में पास होने वाले स्टूडेंट की पोस्टिंग होनी है। वही एमवीआई पोस्ट के लिए होने वाले कंपटीशन एग्जाम अपरिहार्य वजह से कैंसिल हो गई है। बहुत जल्दी एग्जाम कराया जाएगा। दो दर्जन विभागीय सुरक्षाकर्मियों के साथ यह प्रतिनियुक्ति की जाएगी। एमवीआई प्रवर्तन पदाधिकारियों तथा विभागीय जवानों की प्रतिनियुक्त करने का सरकार प्लान बना रही है। इसकी प्रक्रिया तेजी के साथ चल रही है। इनकी प्रतिनियुक्त के पश्चात ट्रैफिक व्यवस्था बहुत जल्द ही स्मार्ट होगी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *