बिहार के लोगों के लिए सरकार की ओर से एक नया अभियान शुरू किया गया है। अब आम मरीज भी बिना किसी परेशानी के अपना किडनी ट्रांसप्लांट करा सकेंगे । प्रदेश के सरकारी अस्पतालों में सरकार ने  फ्री किडनी ट्रांसप्लांट का ऐलान कर दिया है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने बुधवार को ट्वीट के जरिए यह जानकारी दी। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि बिहार के सरकारी अस्पतालों में मुफ्त इलाज के साथ ही मरीजों द्वारा ली जाने वाली दवाओं का खर्च भी सरकार उठाएगी  ।

#    यह प्रतिपूर्ति है 14 गंभीर बीमारियों के खर्च का…..

राज्य के अस्पतालों में कई तरह के ऑपरेशन हो रही है । यह सारे ऑपरेशन काफी महंगी होती है । जो आम मरीज के पहुंच से भी बाहर होती है । सरकार की ओर से  कई तरह के ऑपरेशन के साथ-साथ करीब तीन सौ तरह के मुफ्त दवाइयां दी जा रही है। इसके साथ-साथ सरकारी अस्पतालों  में कई तरह के टेस्ट भी मुफ्त हो रहे हैं । इसके अलावा राज्य के निवासियों के लिए कैंसर, हृदय रोग सहित 14 अलग-अलग रोगों और उनके महंगे ऑपरेशन पर होने वाले खर्च की प्रतिपूर्ति की व्यवस्था भी की गई है । इसके लिए स्वास्थ्य विभाग कमेटी भी बनाई गई है। सरकार ने हाल ही में एक नई बीमारी को राज्य की बीमारियों की सूची में शामिल किया है । यह बच्चों में होने वाली बीमारियां हैं, इसका नाम मस्कूलर डिस्ट्राफी है । इस बीमारी के इलाज के लिए सरकार पीड़ित परिवार को 6 लाख रुपए  मुहैया कराती है ।

#        अब तक डायलिसिस की थी मुफ्त सुविधा……..

बिहार सरकार ने अब तक डायलिसिस की सुविधा बिना किसी शुल्क के उपलब्ध कराई है । बिहार सरकार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर इस बात का ऐलान किकिया है । तेजस्वी यादव ने ट्वीट कर कहा कि सरकार अब बिहार के सरकारी अस्पतालों में बिना किसी शुल्क के किडनी ट्रांसप्लांट की सुविधा उपलब्ध कराएगी, साथ ही मरीजों की ओर से ली जा रही दवाइयों का खर्चा भी सरकार की ओर से उठाया जाएगा। तेजस्वी यादव ने अपने ट्वीट में कहा, महागठबंधन की नई जनसरोकार की सरकार का यह फैसला है।

आपको बता दें कि किडनी ट्रांसप्लांट में करीब 10 से 15 लाख रुपये का खर्च आता है, ऐसे में मध्यम वर्ग और निम्न वर्ग के परिवारों के लिए किडनी ट्रांसप्लांट कराना संभव नहीं है। जिससे उन्हें समय पर इलाज नहीं मिल पाता, जिससे उनकी समय से पहले मौत हो जाती है। ऐसे में मरीजों के लिए फ्री किडनी ट्रांसप्लांट और मुफ्त दवाएं किसी वरदान से कम नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.