बिहार में जमीन रजिस्ट्री की प्रक्रिया और पूरी तरह बदल चुकी है कोरोना काल के दौरान कार्यालयों में होने वाले भीड़भाड़ से निपटने के लिए सरकार में ऑनलाइन व्यवस्था शुरू की थी, जिसका परिणाम बेहद ही सकारात्मक रखना, अब इसे देखते हुए नियमित रूप से नई प्रक्रिया को लागू कर दिया गया। तथा सांथ साथ बिहार सरकार देश का ऐसा पहला राज्य बनने जा रहा है जो रजिस्ट्री करने वाले ग्राहकों एवं रजिस्ट्री कराने वाले ग्राहकों एक विशेष सुविधा उपलब्ध कराने जा रहा है, आइए जानते हैं विस्तार से

 

 

नई ऑनलाइन व्यवस्था के तहत कातिब के माध्यम से स्टांप पेपर पर दस्तावेज तैयार किया जाता है तथा दस्तावेज की रजिस्ट्री के लिए ऑनलाइन अपॉइंटमेंट लिया जाता है, ऐसे में बिचौलियों की झंझट को खत्म करने के लिए बिहार के प्रत्येक रजिस्ट्री कार्यालय से फ्री में बस सुविधा रजिस्ट्री करने तथा रजिस्ट्री कराने वाले सुदूर ग्रामिण इलाक़े के लोगों के लिए उपलब्ध कराई जाएगी, बिहार के मुजफ्फरपुर ज़िले के पारुल तथा कटरा मुफस्सिल कार्यालय, पटना के विक्रम एवं बाढ़ से यह सुविधा आने वाले 7 सितंबर से शुरू हो जाएगी, इस व्यवस्था में दोनों कार्यालयों से दो दो बसों का संचालन पायलट प्रोजेक्ट के तहत शुरू किया जाएगा जिसके लिए रूट प्लान भी तैयार कर लिया गया है।

 

 

नई व्यवस्था के तहत रजिस्ट्री से पहले लोगों को लाने के लिए तथा रजिस्ट्री हो जाने के बाद लोगों को घर तक पहुंचाने के लिए बस की सुविधा लोगों को फ्री में दी जाएगी मिली जानकारी के अनुसार आने वाले 19 सितंबर से यह सुविधा पूरे बिहार में लागू कर दी जाएगी, इसके लिए मद्य निषेध उत्पाद एवं निबंधन विभाग ने इस योजना को अपनी ओर से हरी झंडी दे दी है, पूरे राज्य के रजिस्ट्री ऑफिस के अधिकारियों के साथ हुए बैठक में इसकी तैयारी करने के लिए आदेश जारी कर दिया गया तथा परिवहन विभाग को बस उपलब्ध कराने का भी आदेश दिया जा चुका है। बिहार इस व्यवस्था के मामले में देश में पहला नाम उभर कर सामने आएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *