बहुत जल्द गंडक नदी के पूर्वी व पश्चिमी किनारों पर वाहन फर्राटा भरते नजर आएंगे जी हां, लोगों की सहुलियत ध्यान में रखते हुए यहां दोनों किनारों से फोरलेन नेशनल हाईवे बनाने की कवायद चल रही है। यह जानकारी केंद्रीय सड़क परिवहन राजमार्ग मंत्री ने दी। पूर्वी तथा पश्चिमी दोनों किनारों पर फोरलेन के अलावा गंडक के दोनों किनारे बनाने का भी निर्माण कार्य जल्द ही शुरू हो जाएगा।

 

 

 

सांसद सुशील मोदी के एक प्रश्न पर गडकरी ने यह भी बताया डीपीआर पूरा हो जाने के पश्चात गंडक के दोनों किनारे बनेंगे,जिससे राष्ट्रीय राजमार्ग के बकरपुर से अरेराज खंड को 2 वर्ष 2020 -21 में तथा अरेराज से बेतिया खंड को साल 2022 तथा 23 में सौंपा जाएगा।

 

 

 

भारत सरकार ने बाकरपुर यानी के सोनपुर के पास मणिपुर तथा साहिबगंज, अरेराज तथा बेतिया को एक दूसरे से जोड़ने वाले खंड जो गंडक नदी के पूर्वी किनारे पर स्थित है। इसे भारत सरकार ने भारत माला स्कीम में सम्मिलित करने का निर्णय लिया इसके बाद मंत्रालय के निर्देश पर एनएचएआई के जरिए गंडक नदी के पश्चिमी किनारा जैसे बकरपुर हाट-मकेर अमनौर तरैया पूर्व हॉट्स बैकुंठपुर खजूरिया, यानी डुमरिया घाट की भी डीपीआर पूर्ण रूप से तैयार करने का कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। सोनपुर वैशाली साहिबगंज अरेराज बेतिया खंड से पूर्व ही राष्ट्रीय राजमार्ग 148 डब्लू के फौम में नोटिफाइड किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *