#

गोरखपुर में गीडा में फ्लैटेड फैक्ट्री की मांग उद्यमियों द्वारा की गई जिसको ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने फ्लैट्टेड फैक्ट्री बनाने का निर्णय लिया है इस फैक्ट्री की स्थापना प्रस्तावित की जा चुकी है। भारत सरकार को प्रस्ताव भेजा जा चुका है। प्रस्ताव के जरिए सोमवार को स्थलीय निरीक्षण के लिए भारत सरकार के एमएसएमई मंत्रालय की एक टीम ने क्षेत्र का निरीक्षण किया साथ ही प्रस्तावित भूखंड का भी रिव्यू किया। निरीक्षण के पश्चात टीम ने कहा गिडा सेक्टर 15 फ्लैट्टेड फैक्ट्री के लिए सूटेबल है। सीओ पवन अग्रवाल से बातचीत के दौरान पता चला गोरखपुर में इस योजना के द्वारा होजरी तथा रेडीमेड गारमेंट्स सेक्टर के उद्यमियों के साथ बाकी छोटे उद्यमियों को भी एक ही जगह पर सभी सहूलियत मिल जाएंगी। बताया की इस फ्लैट्टेड फैक्ट्री को 10,862 वर्ग मीटर में बनाया जाएगा जो की 4 मंजिला होगी।

 

 

इस फैक्ट्री से 70 फैक्ट्रियां उठाएंगीे लाभ –

इस योजना के द्वारा बनी एक स्थान पर 70 फ्लैट्टेड फैक्ट्रीयां,उद्दमी गीडा सेक्टर 15 में एक ही स्थान से लाभ उठा सकेंगे इस भूखंड पर बनी 11,075 वर्ग मीटर के क्षेत्रफल पर फैक्ट्रियों से लगभग 1,000 लोगों को रोजगार का लाभ भी मिलेगा जिसमें आवश्यक सुविधाएं भी उपलब्ध रहेगी

 

 

क्या आपको पता है यह एक विदेशी संकल्पना है? इसके द्वारा फ्लैट नुमा बहुमंजिला इमारत का निर्माण कराया जाता है। इस संकल्पना के जरिए जमीन तथा फैक्ट्री के लिए मोटी रकम का खर्च नहीं करना पड़ता है और फैक्ट्री का स्ट्रक्चर परियोजना के अनुसार मिलता है। इसकी खास बात तो यह है की इस तरीके की फैक्ट्री किराए पर भी उपलब्ध हो जाती हैं।

 

 

अगर कोई कारोबारी फ्लैट्टेड फैक्ट्री कांसेप्ट के द्वारा कारोबार शुरू करना चाहता है तो वह बिल्कुल कर सकता है खास कर वो कारोबारी जिनके पास पूंजी नहीं होती है कारोबार के लिए, क्योंकि जमीन खरीदने तथा फैक्ट्री बनवाने से लेकर और स्ट्रक्चर को तैयार कराने में काफी लागत आती है और लागत के लिए जब पैसा नहीं होता है तो कारोबारी कारोबार करने से पीछे हट जाता हैं। मगर इस फैक्ट्री के कांसेप्ट द्वारा यह कारोबारी कारोबार कर सकते हैं। ऐसे कारोबारीयों के लिए फ्लैटेड फैक्ट्री कॉन्सेप्ट बहुत ही काम आता है। इसके संकलपना द्वारा एक कारोबारी अपने काम के हिसाब से फैक्ट्री में पहले से तैयार फ्लोर किराए पर ले सकता है और कार्य शुरू कर सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *