बिहार में जाम की समस्या से छुटकारा पाने के लिए परिवहन विभाग बिहार सरकार ने बड़ा प्लान तैयार किया है मिली जानकारी के अनुसार पूरे बिहार में 56 ऐसे सड़क है जिन्हें जाम से निजात दिलाने के लिए इन सड़कों का चौड़ीकरण किया जाएगा। इस दौरान जरूरत पड़ने पर बायपास फ्लाईओवर एलिवेटेड रोड बनाने का निर्णय भी लिया जा सकता है।

 

 

बिहार सरकार का यह मिशन है कि बिहार के किसी भी जिले से पटना पहुंचने के लिए 5 घंटे से अधिक का समय नहीं लगे। जिसके लिए जरूरत पड़ने पर बायपास फ्लाईओवर या एलिवेटेड सड़क का निर्माण भी शामिल है नीतीश सरकार के निश्चय दो के तहत जो योजना कार्य करती है, उसका नाम है सुलभ संपर्कता योजना जिसके तहत पूरे राज्य में 120 नए बाईपास बनाए जाएंगे जिसको बनने में 2 से 3 साल तक का समय लग सकता है।

 

 

अब तक के आंकड़ों के अनुसार पूरे राज्य में 120 ऐसी सड़कों की लिस्ट तैयार की गई है जिन सड़कों पर सबसे ज्यादा सड़क जाम की समस्या आए दिन होती रहती है। जिनमें 33 स्टेट हाईवे 31 नेशनल हाईवे और एमडीआर की 56 सड़कें शामिल है। शहर के भीतर से होकर गुजरने वाली यह एमडीआर सड़कें का जाम रहना लाजमी है इन सड़कों ये सड़के  की के बीचोंबीच बनाई जाती है। इन सड़कों का भी चौड़ीकरण किया जाएगा।

 

 

एमडीआर की कुछ सड़कें हैं जिनकी लिस्ट ज़िला के अनुसार निम्न प्रकार से तैयार की गई है। पूर्वी चंपारण किशनगंज समस्तीपुर शेखपुरा सीतामढ़ी सारण सहरसा भागलपुर मधुबनी मुंगेर पश्चिमी चंपारण सिवान कैमूर औरंगाबाद पटना रोहतास की 2 सड़कें बक्सर बेगूसराय भोजपुर खगड़िया पूर्णिया नालंदा में 3 सड़कें हैं। मधेपुरा और गोपालगंज ज़िले की 4 सड़कें हैं, जिनपर जनता को अक्सर आए दिन हर रोज सड़क जाम का सामना करना पड़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.