हमारा बिहार लगातार प्रगति पथ पर अग्रसर है, ख़ासकर नीतीश सरकार की सबसे अच्छी उपलब्धि यही रही है रोड और क़ानून व्यवस्था ।जिसको दुरुस्त करने में मौजूदा सरकार पूरी तरह तो नहीं, लेकिन पहले जितने भी सरकारें बनी है उन सभी में मौजूदा सरकार सबसे अव्वल है।

 

बिहार में पटना की बात की जाए तो नीतीश सरकार ने पटना ज़िले का पूरी तस्वीर ही पलट कर रख दी है। पहले का पटना और आज के पटना में ज़रूरत से ज़्यादा फ़ासले हैं। आज का पटना शानदार भवनो, चौड़ी सड़के, बड़े बड़े इमारत, सफ़ाई व्यवस्था, बड़े बड़े मॉल, ओवरब्रिज, एलिवेटेड रोड और मेट्रो रेल परिचालन का निर्माण कार्य तो चल ही रहा है। इसी बीच एक और योजना लॉंच की गयी है।

 

इस योजना में पटना के अशोक राजपथ में डबल डेकर एलिवेटेड कॉरिडोर बनाने का ऐलान सरकार ने कर दिया है। बता दे की यह एलिवेटेड कारिडोर राजधानी के गांधी मैदान स्थित कारगिल चौक से लेकर वाया पीएमसीएच होते हुए इसका एक हिस्सा पीएमसीएच के पुराने गेट के समीप गिरेगा।

 

इस कारिडोर की कुल लम्बाई दो किलोमीटर है। जिसको तीन साल में बनाकर जनता के लिए खोलने का समयसीमा सरकार में तय किया है। इसके निर्माण कार्य के लिए कुछ इमारतों को तोड़ने की आवश्यकता भी पद सकती है। फ़िलहाल कुल आठ कंपनियो ने बिड किया था जिसमें चार को तकनीकी बिड में असफलता मिली है। इस कारिडोर के बन जाने से मरीज़ों को अस्पताल पहुँचना पहले से अत्यंत आसान हो जाएगा, और अशोक राजपथ पर लग रहे जाम से जनता को हमेशा के लिए मुक्ति मिल जाएगी।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.