बिहार,( कुलसूम फात्मा )  बिहार के लोगों को अब बिहार सरकार एक और सौगात से नवाजने जा रही है। बिहार सरकार ने निर्णय लिया है की प्रत्येक जनपद से पटना के लिए बसें चलें , अगर हम बिहार के सभी जनपद की संख्या पर नज़र डाले तो यह जनपद जो जुड़ेंगे पटना से इनकी संख्या 38 है।

 

जी हां, अब प्रत्येक जिले से पटना के लिए बसें चलना प्रारंभ हो जाएंगे। पटना से यह बसें 70 चलेंगी जिन की पहली शिपमेंट पटना आ चुकी है। और इस फर्स्ट शिपमेंट में तकरीबन बसों की संख्या 22 है तथा जल्द ही यह बसें 1 सप्ताह के अंतर्गत तथा सभी बसें जिनकी संख्या 70 हैं, आने की संभावना जताई जा रही है।

 

प्रत्येक जिले से पटना को जाएंगी बसें

बिहार सरकार ने निर्णय लिया है की सड़क के जरिए पटना को बिहार के प्रत्येक जनपद से जोड़ा जाएगा तथा इस बात का सरकार ने ऐलान भी कर दिया है। प्रत्येक बसों के परमिट बनाने का आदेश वर्तमान समय में दे दिया गया है और बहुत जल्द इस योजना को प्रारंभ कर दिया जाएगा। राज्य परिवहन अधिकारी जिनका नाम श्याम किशोर है   उनसे जब बातचीत की तो उन्होंने बताया कि बहुत जल्द यह 70 बसें बिहार के सभी जनपद से जुड़ जाएंगी और पटना में प्रदूषण को भी ध्यान में रखा जाएगा तथा पटना में सड़कों पर 25 इलेक्ट्रॉनिक बसें को चलाया जाएंगा।

 

इन इलेक्ट्रॉनिक बस से लाभ यह होगा के प्रदूषण फैलने की संभावना कम हो जाएगी। इन इलेक्ट्रॉनिक बसों के लिए चार्जिंग स्टेशन फुलवारी शरीफ केंद्रीय कर्मशाला में बनकर तैयार हो चुके हैं। पटना कि इन सड़कों पर पहली बार इलेक्ट्रॉनिक बस चलना प्रारंभ होगी।

बता दें की इस योजना में केवल बिहार के जिलों को ही जोड़ा नहीं जाएगा बल्कि इस योजना में पटना से काठमांडू तथा जनकपुर तथा वाराणसी के लिए भी बसों का संचालन होगा। वही बक्सर से गाजियाबाद के लिए तथा मोतिहारी से पश्चिम बंगाल की अंतिम सीमा और जय गांव तक के बसों को संचालित किया जाएगा। और वहां से भूटान जाने में यात्रियों को सहायता मिलेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.