पूर्वोत्तर रेलवे के लूप लाइन के 8 रेल मार्गो पर इस वर्ष मार्च 2021 में इलेक्ट्रिक इंजन वाली ट्रेने दौड़नी शुरू हो जाएंगी। सीआरएस की हरी झंडी मिलते ही इन रेल मार्गों पर इलेक्ट्रिक इंजन ट्रेनो का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। इससे पहले रेल संरक्षा आयुक्त के निरीक्षक का समय भी निर्धारित किया जा चुका है।

 

 

निरीक्षण के बाद हरी झंडी मिलते ही गोरखपुर से इंदारा बलिया के रास्ते इलेक्ट्रिक इंजन वाली ट्रेनों का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा। अब तक मिली जानकारी के अनुसार फेफ़ना इंदारा यह एक सिंगल लाइन है, जिस पर रेलवे ट्रैक का विद्युतीकरण का काम पूरा हो चुका है। इस मार्ग पर 10 मार्च को सीआरएस के द्वारा निरीक्षण किया जाएगा, जिसके बाद गोरखपुर भटनी इंदारा बलिया और छपरा रूट पर भी इलेक्ट्रिक इंजन वाली ट्रेनों का परिचालन शुरू कर दिया जाएगा।

 

 

आपको बता दें कि पूर्वांचल एक्सप्रेस सप्ताह में 2 दिन इसी रूट पर चलाई जाती है, इसके अलावा लखनऊ मंडल में गोरखपुर नौतनवा एवं आनंदनगर बढ़नी गोंडा इन रेल मार्गों पर भी विद्युतीकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। जिसके लिए सरकार के द्वारा 116 करोड़ रुपए भी दिए गए हैं। साथ-साथ गोंडा से बहराइच इस रूट का भी विद्युतीकरण के लिए बजट आवंटित कर दिया गया है जिसकी राशि ₹28करोड़ है, इस रूट पर 2022 में इलेक्ट्रिक इंजन वाली ट्रेनें दौड़नी शुरू हो जाएँगी ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.