गोरखपुर,( कुलसूम फात्मा )  पूर्वोत्तर रेलवे की लूप लाइनों पर इलेक्ट्रॉनिक इंजनों से ट्रेनें दौड़ने का कार्य प्रारंभ हो गया है। यह इलेक्ट्रॉनिक ट्रेन गोरखपुर में जल्द ही दौड़ेंगी।  पूर्वोत्तर रेलवे की लूप लाइनों पर इलेक्ट्रॉनिक इंजनों से ट्रेनें दौड़ने की कवायद चल रही है। और 2 साल में बचे हुए तकरीबन 900 किमी रेल मार्ग का भी विद्युतीकरण पूरा कर दिया जाएगा। बजट में वित्त मंत्री ने 2023 तक इन सभी बड़ी रेल लाइनों पर विद्युतीकरण करने का ऐम निश्चित किया है  वर्तमान समय में पूर्वोत्तर रेलवे के तकरीबन 3477 मार्ग की रेल लाइन में 2500 रेल मार्ग का विद्युतीकरण पूरा किया जा चुका है।

 

 

जाने मुख्य मार्ग

 

 

बता दें की मुख्य मार्ग बाराबंकी, गोरखपुर छपरा, गोरखपुर भटनी, वाराणसी के साथ-साथ गोरखपुर, कप्तानगंज और नरकटियागंज तथा छपरा बलिया वाराणसी रेल मार्ग पर इलेक्ट्रॉनिक ट्रेनें चलाने के बाद रेलवे प्रशासन लूप लाइनों के विद्युतीकरण को गति दे रहा है। और मार्च की 31 तारीख तक गोरखपुर आनंद नगर नौतनवा मार्ग का विद्युतीकरण हो जाएगा।

इसके साथ ही आनंद नगर बढ़नी गोंडा रेल मार्ग का विद्युतीकरण दिसंबर की 31 तारीख 2021 तक पूर्ण कर दिया जाएगा। भटनी औड़ीहार के साथ 282 किमी रेल मार्ग पर इलेक्ट्रिक इंजनों से ट्रेन चलने लगेंगी और सन 2020 के माह मार्च से पूर्व 1967 की नई रेल लाइन का विद्युतीकरण पूरा किया जा चुका था।

 

 

 

यह है वह लाइन जिन पर किया जा चुका है कार्य –

 

 

गोंडा – सुभागपुर, कछरवा रोड, माधोेसिहं, भटनी, औड़ीहार, बरेली सिटी – कासगंज, सीतापुर, लखीमपुर, दुरौधा मशरख, सलेमपुर बरहज, माधोसिंह, ब्रह्मवर्ता, ग्यानपुर फेंफना, इंदिरा बलिया फेफना बरेली सिटी, पीलीभीत ,पीलीभीत टनकपुर रेल लाइन का कार्य पूर्ण किया जा चुका है

 

इन रेल लाइनों पर होना है कार्य –

 

बता दें के वह रेल लाइन जिन पर अभी काम किया जाना बाकी है। वह मऊ शाहगंज, बुढ़वल, सीतापुर,
दूसरी लाइन, झूसी, इलाहाबाद, दूसरी लाइन मैलानी, पीलीभीत के साथ-साथ शाहजहांपुर, पीलीभीत तथा टनकपुर मुरादाबाद काशीपुर रामनगर, के साथ रामपुर लालकुआं काठगोदाम लालकुआं, काशीपुर, बरेली, भोजीपुरा दुढ़वल  तीसरी लाइन, मल्हार डालीगंज तथा दूसरी रेल लाइन पर कार्य पूरा होना है और इस कार्य के पूरा करने की मंजूरी दी जा चुकी है।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.